nayaindia एसआईटी करेगी दंगों की जांच - Naya India
समाचार मुख्य| नया इंडिया|

एसआईटी करेगी दंगों की जांच

नई दिल्ली। दिल्ली में चार दिन तक हुए सांप्रदायिक दंगों की जांच अब विशेष जांच टीम, एसआईटी करेगी। क्राइम ब्रांच की इस एसआईटी का नेतृत्व एडिशनल सीपी क्राइम बीके सिंह करेंगे। एसआईटी की भी दो टीमें बनाई गई हैं, जो मिल कर इस मामले की जांच करेगी। दोनों टीमों की कमान दो डीसीपी संभालेंगे। उत्तर पूर्वी दिल्ली में हुई हिंसा मामले में पुलिस ने कुल 48 एफआइआर दर्ज की और 106 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। इस बीच इन दंगों में घायल छह और लोगों ने गुरुवार को दम तोड़ दिया। इसके अलावा अलग अलग जगहों से दो और शव बरामद किए गए हैं। गुरुवार तक दंगों में मरने वालों की संख्या बढ़ कर 38 हो गई है। करीब ढाई सौ लोग इसमें घायल हुए हैं।

दंगा भड़कने के चार दिन बाद एक्शन में आई पुलिस सीसीटीवी फुटेज और ड्रोन फुटेज के आधार पर आरोपियों की तलाश कर रही है। एसआइटी बनने के बाद मामले में तेजी से जांच की उम्‍मीद की जा रही है। रविवार से बुधवार तक हुए दंगे में कई इलाकों में आगजनी हुई है, जिसमें जानमाल का भारी नुकसान हुआ है। कई इलाकों में दुकानें और लोगों के घर पूरी तरह से जला दिए गए।

गौरतलब है कि संशोधित नागरिकता कानून, सीएए के विरोध में शनिवार की रात को बड़ी संख्या में मुस्लिम महिलाओं ने जाफराबाद मेट्रो स्टेशन के नीचे धरना शुरू कर दिया था। अगले दिन रविवार को भाजपा नेता कपिल मिश्रा अपने समर्थकों के साथ वहां पहुंचे और उन्होंने सीएए के समर्थन में प्रदर्शन किया। उसके बाद सीएए विरोधियों और समर्थकों में पत्थरबाजी शुरू हुई, जो सांप्रदायिक हिंसा में बदल गई। बताया जा रहा है कि इस हिंसा में मरने वाले काफी लोगों की जान गोली लगने से गई है।

बहरहाल, बुधवार को की रात को मौजपुर सहित कुछ इलाक़ों में छिटपुट हिंसा के अलावा कोई बड़ी घटना नहीं हुई। गुरुवार को भी शांति बनी रही। दिल्ली पुलिस और अर्द्धसैनिक बलों के जवान लगातार संवेदनशील इलाक़ों में गश्त कर रहे हैं और जनजीवन धीरे-धीरे पटरी पर लौटता दिख रहा है, हालांकि तनाव अब भी बना हुआ है। इस बीच आम आदमी पार्टी के पार्षद ताहिर हुसैन के ऊपर दंगा भड़काने का आरोप लगा है, जिसके बाद मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि अगर उनकी पार्टी का कोई नेता दंगों में शामिल है तो उसे दोगुनी सजा दी जाए।

Leave a comment

Your email address will not be published.

fifteen + ten =

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
कर्नाटक में क्यों देरी कर रही है भाजपा
कर्नाटक में क्यों देरी कर रही है भाजपा