• डाउनलोड ऐप
Sunday, April 11, 2021
No menu items!
spot_img

किसान आंदोलन का दायरा बढ़ा

Must Read

नई दिल्ली। केंद्र सरकार के बनाए तीन कृषि कानूनों के विरोध में दिल्ली की सीमा पर चल रहे किसान आंदोलन का दायरा बढ़ता जा रहा है। राजस्थान के कई इलाकों से लेकर पंजाब के अंदर और हरियाणा के कुछ इलाकों में भी किसानों का आंदोलन तेज हो गया है। इस बीच दिल्ली की सीमा पर पिछले 30 दिन से डटे किसान संगठनों ने शुक्रवार को अलग-अलग बैठक करके अपनी रणनीति बनाई। ध्यान रहे सरकार किसानों से बात करने की बजाय बार-बार उनसे कह रही है कि वे वार्ता की तारीख और समय तय करें, जबकि किसानों का कहना है कि सरकार ठोस प्रस्ताव दे तो वे वार्ता के लिए तैयार हैं।

बहरहाल, दिल्ली की सीमा पर चल रहे आंदोलन के बीच खबर है कि पंजाब में कई जगह किसानों ने बड़ा प्रदर्शन किया है। किसानों ने कई जगह रिलायंस समूह की संचार कंपनी जियो के टावर की बिजली काट दी रिलायंस के दूसरे प्रतिष्ठानों के सामने प्रदर्शन किया। इससे परेशान मुख्यमंत्री कैप्टेन अमरिंदर सिंह ने कहा कि किसान मोबाइल टावर की बिजली काट रहे हैं, जिससे राज्य की संचार व्यवस्था और अर्थव्यवस्था पर भी असर होगा।

उधर पंजाब के फगवाड़ा में दिवंगत अटल बिहारी वाजपेयी को श्रद्धांजलि देने के लिए भाजपा ने एक होटल में कार्यक्रम का आयोजन किया था वहां किसानों ने होटल का घेराव कर दिया। बाद में भाजपा के जिला नेताओं को किसी तरह से होटल के पिछले दरवाजे से बाहर निकाला गया। गौरतलब है कि आंदोलन कर रहे किसान संगठनों की ओर से भाजपा नेताओं के घेराव और अंबानी-अडानी के प्रतिष्ठानों के बाहर प्रदर्शन का ऐलान किया गया था।

राजस्थान में अलवर के शाहजहांपुर-खेड़ा बॉर्डर पर भी किसान आंदोलन तेज हो गया है। आंदोलनकारियों की बढ़ती संख्या और किसानों के दिल्ली कूच की संभावना को देखते हुए शुक्रवार दोपहर दो बजे हरियाणा पुलिस ने जयपुर-दिल्ली हाईवे की दूसरी लेन को भी बंद कर दिया। गौरतलब है कि शाहजहांपुर सीमा पर किसान 12 दिसंबर से हाईवे पर डटे हुए हैं। इस वजह से अभी तक जयपुर से दिल्ली जाने वाली लेन बंद थी। शुक्रवार दोपहर को हाईवे की दिल्ली-जयपुर वाली लेन पर भी हरियाणा पुलिस ने बैरिकेड लगा दिए और गाड़ियों को बावल की तरफ से मोड़ दिया।

किसान महापंचायत के राष्ट्रीय अध्यक्ष रामपाल जाट ने कहा कि सरकार ने जान बूझकर हाईवे की दूसरी लेन बंद की है। किसानों ने हाईवे जाम नहीं किया। किसान दिल्ली कूच न कर पाएं, इसलिए शाहजहांपुर खेड़ा बॉर्डर पर बैरिकेड लगा दिए गए हैं। गौरतलब है कि राजस्थान के सांसद हनुमान बेनीवाल ने कहा था कि वे 26 दिसंबर को दो लाख किसानों के साथ शाहजहांपुर खेड़ा हरियाणा बॉर्डर पर आएंगे। इस संबंध में गुरुवार को उन्होंने जयपुर में जनसंपर्क भी किया था। ऐसे में आशंका है कि वे शनिवार को बड़ी संख्या में किसानों को लेकर सीमा पर पहुंच सकते हैं। माना जा रहा है कि इससे हालात बिगड़ सकते हैं, इसलिए एहतियात के तौर पर एक दिन पहले ही हरियाणा पुलिस ने हाईवे बंद कर दिया।

- Advertisement -spot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest News

IPL 2021: दिल्ली ने चेन्नई सपुर किंग्स को हराया

मुंबई। शिखर और पृथ्वी शॉ की धमाकेदार बल्लेबाजी की वजह से दिल्ली ने चेन्नई सुपरकिंग को 7 विकेट से...

More Articles Like This