nayaindia बैरिकेडिंग तोड़ना सीखो: टिकैत - Naya India
समाचार मुख्य| नया इंडिया|

बैरिकेडिंग तोड़ना सीखो: टिकैत

जयपुर। भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत ने लगातार दूसरे दिन राजस्थान में किसान महापंचायत को संबोधित किया और किसानों से सारी बधाओं को रास्ते से हटाने की अपील की। उन्होंने बुधवार को नागौर में किसान महापंचायत में कहा कि अगला जो आंदोलन होगा उसमें कहीं बैरिकेडिंग नहीं होनी चाहिए, अगर होगी तो इसे तोड़ा जाएगा। उन्होंने कहा किसान जब तक बैरिकेडिंग तोड़ कर आगे नहीं बढ़ेंगे, तब तक दिल्ली में आंदोलन नहीं कर सकेंगे। अगर किसानों को पता चल जाए कि दिल्ली में बैरिकेडिंग है तो चार गुना तादाद में भीड़ आनी चाहिए। इससे पहले मंगलवार को टिकैत ने झुंझुनू में किसानों से दिल्ली चलो की अपील की थी।

इसके अगले दिन बुधवार को टिकैत ने किसानों से कहा- बैरिकेडिंग तोड़ना सीख लो। हमारे में से कुछ लोग तो बैरिकेडिंग तोड़ने में माहिर हैं। टिकैत ने कहा- ट्रैक्टर किसानों का टैंक है। ये आंदोलन कार से नहीं होते। उन्होंने आगे आंदोलन तेज करने का संकेत देते हुए किसानों से अपना फार्मूला साझा किया। उन्होंने कहा- एक गांव, एक ट्रैक्टर, 15 किसान और 10 दिन यह फार्मूला है। इसका मतलब यह है कि एक गांव से 15 लोग एक ट्रैक्टर के साथ आंदोलन स्थल शाहजहांपुर पहुंचेंगे, जो 10 दिन तक रहेंगे। इसके बाद ये वापस आएंगे तो दूसरे गांव से 15 लोग 10 दिन के लिए आंदोलन स्थल पर पहुंचेंगे। यह क्रम लगातार जारी रहेगा।

राकेश टिकैत ने केंद्र सरकार पर हमला करते हुए कहा- किसानों को बरबाद करने के लिए केंद्र सरकार ने तीन कृषि कानून बनाए हैं। इन कानूनों से अगर किसान हारेगा तो मजदूर भी हारेगा। भीमराव अंबेडकर और संविधान हारेगा। उन्होंने कहा- किसान और मजदूर की रोटी तिजोरी में बंद होगी। व्यापारियों ओर बड़ी कंपनियों के ताले किसान की रोटी पर लगेंगे। भूख के आधार पर देश में कीमतें तय होगी।

नागौर में किसान महापंचायत को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि यह पता नहीं किसान आंदोलन कितना चलेगा। टिकैत ने दावा करते हुए कहा- टिकरी बॉर्डर पर अभी 15 हजार ट्रैक्टर हैं। किसानों ने वहीं अपनी झोपड़ी डाल दी है। किसान कहीं नहीं जाएगा। कुछ लोग कह रहे हैं कि किसान बिजली चोरी कर रहे हैं। हमने कहा कि बिजली कनेक्शन दे दो, एडवांस में पैसे ले लो। किसानों ने दिल्ली को घेर कर रखा है।

Leave a comment

Your email address will not be published.

4 − three =

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
झारखंड: अग्निपथ योजना के खिलाफ भारत बंद का असर
झारखंड: अग्निपथ योजना के खिलाफ भारत बंद का असर