किसानों ने निकाली ट्रैक्टर रैली - Naya India
समाचार मुख्य| नया इंडिया|

किसानों ने निकाली ट्रैक्टर रैली

नई दिल्ली। केंद्र सरकार के बनाए तीन कृषि कानूनों के विरोध में पिछले 43 दिन से प्रदर्शन कर रहे किसानों ने गुरुवार को ट्रैक्टर रैली निकाली। केंद्र सरकार ने आठवें दौर की वार्ता से एक दिन पहले हजारों किसानों ने दिल्ली के चारों तक ट्रैक्टर रैली निकाली। गौरतलब है कि कई राज्यों के किसान दिल्ली की कई सीमाओं पर 43 दिन से बैठे हैं और आंदोलन कर रहे हैं। उन्होंने प्रदर्शन की सभी जगहों- सिंघू बॉर्डर, टिकरी बॉर्डर और गाजीपुर बॉर्डर से रैली निकाली और उधर हरियाणा के रेवासन में भी ट्रैक्टर रैली निकाली।

प्रदर्शन कर रहे किसान संगठनों ने कहा कि अगर उनकी मांगें नहीं मानी गईं तो 26 जनवरी को राजधानी दिल्ली में ट्रैक्टर परेड निकालेंगे। किसानों ने कहा कि गुरुवार को हुई रैली गणतंत्र दिवस की परेड का रिहर्सल है। उन्होंने यह भी कहा कि हरियाणा, पंजाब और उत्तर प्रदेश के कई हिस्सों से 26 जनवरी को राष्ट्रीय राजधानी में किसान अपने ट्रैक्टरों के साथ आएंगे।

आंदोलन में शामिल नेताओं ने कहा कि गुरुवार की ट्रैक्टर रैली में करीब साढ़े तीन हजार ट्रैक्टर और ट्रॉलियों के साथ हजारों किसानों ने हिस्सा लिया। इससे पहले हरियाणा सरकार ने ट्रैक्टर रैली की इजाजत देते हुए अनुमान जताया था कि दो से ढाई हजार तक ट्रैक्टर इस रैली में शामिल हो सकते हैं। बहरहाल, रैली के बाद किसानों ने कहा कि वे केंद्र के तीनों कानूनों की वापसी के अलावा कोई और समझौता नहीं मानेंगे।

गौरतलब है कि केंद्र सरकार और किसान संगठनों के बीच शुक्रवार को आठवें दौर की बातचीत होनी है। इससे पहले चार जनवरी को किसान संगठनों और तीन केंद्रीय मंत्रियों के बीच सातवें दौर की बैठक हुई थी, जिसमें कोई नतीजा नहीं निकला था। वैसे सरकार ने 30 दिसंबर की वार्ता में किसानों की दो छोटी मांगों पर सहमति की बात कही थी पर किसान तीनों कानूनों को निरस्त करने की अपनी मांग पर कायम हैं।

बहरहाल, गुरुवार को दिल्ली पुलिस और हरियाणा पुलिस की भारी तैनाती के बीच ट्रैक्टर पर सवार किसानों ने सुबह 11 बजे कोंडली-मानेसर-पलवल यानी केएमपी एक्सप्रेसवे की ओर मार्च शुरू किया। किसान आंदोलन के सारे नेता इस मार्च में शामिल हुए और अलग अलग समूहों की अगुवाई की। ट्रैक्टर मार्च के रास्ते में दूसरे किसान और आम लोग मूंगफली, नाश्ता, चाय, और समाचार पत्रों आदि सामान के साथ खड़े थे।

Latest News

Jammu Kashmir: किश्तवाड़ में बादल फटने से तबाही, 4 की मौत, कई लोग लापता
श्रीनगर | Cloudburst in Kishtwar: जम्मू-कश्मीर के किश्तवाड़ में भारी बारिश (Heavy Rain) ने तबाही मचा दी है। यहां बादल फटने से…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

});