फारूक की हिरासत अवधि बढ़ाई गई

श्रीनगर। जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री और श्रीनगर के सांसद फारूक अब्दुल्ला को अभी हिरासत में ही रहना होगा। राज्यपाल प्रशासन ने उनकी हिरासत की अवधि तीन महीने के लिए और बढ़ा दी है। इस दौरान वे उप जेल में बदल दिए गए अपने घर में रहेंगे। अधिकारियों ने बताया कि जम्मू कश्मीर केंद्र शासित प्रदेश के गृह विभाग के सलाहकार बोर्ड ने तीन बार मुख्यमंत्री और पांच बार सांसद रहे फारूक अब्दुल्ला के मामले की समीक्षा की और उनकी हिरासत अवधि जनसुरक्षा कानून, पीएसए के तहत बढ़ाने की सिफारिश की।

केंद्र शासित प्रदेश के गृह विभाग ने गुपकर रोड स्थित उनके आवास को उप जेल घोषित कर दिया है। गौरतलब है कि 82 साल के अब्दुल्ला के दिल में पेसमेकर लगा हुआ है और कुछ साल पहले उनकी किडनी बदली गई थी। वे पहले ऐसे मुख्यमंत्री बन गए हैं, जिनके खिलाफ सख्त जन सुरक्षा कानून लगाया गया है। विपक्षी पार्टियों ने उनकी हिरासत बढ़ाए जाने की आलोचना की है।

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने ट्विट करके कहा है- फारूक अब्दुल्ला की हिरासत जन सुरक्षा कानून के तहत तीन महीने के लिए बढ़ा दी गई है यह बेहद दुखद है। हमारे लोकतांत्रिक देश में ऐसा हो रहा है। ये सब असंवैधानिक कदम है। फारूक अब्दुल्ला उन कुछ नेताओं और कार्यकर्ताओं में शुमार हैं, जिन्हें पांच अगस्त से हिरासत में लिया गया है। केंद्र सरकार ने पांच अगस्त को जम्मू कश्मीर राज्य का विशेष दर्जा हटाने और इसे दो केंद्र शासित प्रदेशों में बांटने की घोषणा की थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Shares