किसान आज हाईवे बंद करेंगे - Naya India
समाचार मुख्य| नया इंडिया|

किसान आज हाईवे बंद करेंगे

नई दिल्ली। केंद्र सरकार के बनाए तीन कृषि कानूनों का विरोध कर रहे किसान संगठन रविवार को दिल्ली-जयपुर हाईवे बंद करेंगे। किसानों ने इससे पहले शनिवार को हरियाणा और पंजाब में टोल प्लाजा फ्री किए। उत्तर प्रदेश में भी कम से कम तीन जगहों पर टोल प्लाजा फ्री किया गया यानी आने-जाने वाली गाड़ियों से टोल शुल्क नहीं वसूलने दिया गया। किसानों को शनिवार को ही आगरा-दिल्ली और दिल्ली-जयपुर हाईवे बंद करना था, लेकिन इसे एक दिन टाल दिया गया। अब रविवार को दिल्ली-जयपुर हाईवे जाम किया जाएगा। गौरतलब है कि किसान पिछले 17 दिन से दिल्ली की सीमा पर आंदोलन कर रहे हैं और तीनों कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग कर रहे हैं।

शनिवार को किसान नेता कमल प्रीत सिंह ने कहा कि रविवार को राजस्थान के हजारों किसान आंदोलन को समर्थन देने के लिए दिल्ली आ रहे हैं। इस दौरान वे दिल्ली-जयपुर हाईवे को ब्लॉक करेंगे। उन्होंने कहा- केंद्र सरकार ने हमारे आंदोलन खत्म करने के लिए कई हथकंडे अपनाए, लेकिन हमने सब फेल कर दिया। कमल प्रीत सिंह ने कहा- सरकार ने हमें बांटने की भरपूर कोशिश की। जीत मिलने तक हम लोग शांतिपूर्ण प्रदर्शन करेंगे। उन्होंने कहा- 14 दिसंबर को सिंघु बॉर्डर पर कई किसान नेता एक साथ मंच पर आएंगे और भूख हड़ताल करेंगे। हमारी मांग है कि तीनों कानूनों को वापस लिया जाए। हम किसी भी तरह के बदलाव के पक्ष में नहीं हैं।

किसानों के प्रदर्शन में शामिल सामाजिक कार्यकर्ता और स्वराज इंडिया के नेता योगेंद्र यादव ने सोशल मीडिया पर बताया कि किसानों ने हाईवे जाम करने का फैसला एक दिन टाल दिया है। उन्होंने कहा कि राजस्थान और हरियाणा के किसान शनिवार को कोटपुतली और बहरोड़ में इकट्ठे हो रहे हैं। वे रविवार को दिल्ली की तरफ बढ़ेंगे। इस दौरान दिल्ली-आगरा और दिल्ली-जयपुर दोनों हाईवे जाम करने का कार्यक्रम है।

इस बीच, किसान नेता गुरनाम सिंह ने बताया कि किसानों की पंजाब से आने वाली कई ट्रॉलियों को सरकार ने रोक लिया है। उनेहोंने सरकार से अपील करते हुए कहा कि वो किसानों को दिल्ली पहुंचने दे। गौरतलब है कि शुक्रवार को अमृतसर से सात सौ ट्रैक्टर-ट्रॉलियों के साथ 50 हजार किसानों का एक जत्था दिल्ली रवाना हुआ। गुरनाम सिंह ने कहा- अगर सरकार 19 दिसंबर से पहले हमारी मांगे नहीं मानती है तो हम गुरु तेग बहादुर के शहादत दिवस से भूख हड़ताल भी शुरू करेंगे।

इससे पहले, शनिवार को ऐलान के मुताबिक, किसानों ने पंजाब और हरियाणा में टोल फ्री कर दिए। टोल कर्मचारियों को लोगों से टैक्स नहीं वसूलने दिया गया। किसानों ने ज्यादातर टोल प्लाजा पर कब्जा किया। उधर, जालंधर में किसानों का समर्थन कर रही सिख तालमेल कमेटी ने रिलायंस ज्वेल्स का शोरूम बंद करवा दिया। किसानों ने कई जगह टोल प्लाजा फ्री कर दिए। अंबाला से करीब 15 किमी दूर हिसार हाईवे पर स्थित टोल प्लाजा पर किसानों ने कब्जा कर लिया। एनएच-44 पर स्थित बस्तारा टोल प्लाजा, करनाल-जिंद हाईवे पर पेऑन्ट टोल प्लाजा भी फ्री कर दिया।

किसानों ने पंजाब में भी टोल प्लाजा फ्री कर दिए। हालांकि, वहां किसान पहले से आंदोलन कर रहे हैं। इसलिए कई टोल प्लाजा पर एक अक्टूबर से ही फीस नहीं ली जा रही। पश्चिमी उत्तर प्रदेश में कम से कम तीन जगहों पर टोल प्लाजा फ्री किया गया। इस बीच किसानों के टोल फ्री करने की चेतावनी को देखते हुए फरीदाबाद पुलिस ने दिल्ली-हरियाणा के रास्तों में आने वाले पांच टोल प्लाजा पर 35 सौ पुलिसकर्मी तैनात किए हैं।

कांग्रेस ने उठाया किसानों की मौत का मुद्दा

कांग्रेस पार्टी ने केंद्र सरकार के बनाए तीन कृषि कानूनों का विरोध पिछले 17 दिन से विरोध कर रहे प्रदर्शनकारी किसानों की मौत का मुद्दा उठाया है। कांग्रेस ने कहा है कि कृषि कानूनों का विरोध कर रहे किसानों में पिछले कुछ दिनों में 11 किसानों की मौत हुई है, इसके बावजूद केंद्र की भाजपा सरकार का दिल नहीं पसीज रहा। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने एक खबर का हवाला देते हुए ट्विट किया- कृषि कानूनों को हटाने के लिए हमारे किसान भाइयों को और कितनी आहुति देनी होगी?

कांग्रेस महासचिव और मीडिया प्रभारी रणदीप सुरजेवाला ने भी इसी खबर का जिक्र करते हुए कहा- पिछले 17 दिनों में 11 किसान भाईयों की शहादत के बावजूद निरंकुश मोदी सरकार का दिल नहीं पसीज रहा। उन्होंने सवालिया लहजे में कहा- सरकार अब भी अन्नदाताओं नहीं, अपने धनदाताओं के साथ क्यों खड़ी है? देश जानना चाहता है- राजधर्म बड़ा है या राजहठ? कांग्रेस के दोनों नेताओं ने जिस खबर का हवाला दिया उसके मुताबिक, दिल्ली के नजदीक चल रहे किसानों के विरोध प्रदर्शन के दौरान पिछले कुछ दिनों में बीमार होने के बाद 11 किसानों की मौत हो चुकी है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *