कोवीशील्ड की दूसरी डोज, 12 हफ्ते बाद!

Must Read

नई दिल्ली। भारत में वैक्सीन की कमी होने और कई राज्यों में वैक्सीनेशन रोके जाने की खबरों के बीच भारत सरकार ने एक बड़ा फैसला किया है। सरकार ने एक बार फिर कोवीशील्ड की दो डोज के बीच का अंतर बढ़ाने की मंजूरी दे दी है। अब कोवीशील्ड की दूसरी डोज 12 से 16 हफ्ते यानी तीन से चार महीने के बीच लगेगी। अभी दूसरी डोज छह से आठ हफ्ते के बीच लगाई जा रही है और जब वैक्सीनेशन शुरू हुआ था तब चार से छह हफ्ते के बीच दूसरी डोज लगाई जा रही थी।

सरकार को सलाह देने वाले एजेंसी नेशनल टेक्निकल एडवाइजरी ग्रुप ऑन इम्युनाइजेशन ने कोवीशील्ड के दो डोज के बीच का अंतर बढ़ाने की सिफारिश की थी। गुरुवार को स्वास्थ्य मंत्रालय ने इसे मंजूर कर लिया। हालांकि पैनल ने साफ किया कि कोवैक्सीन के मामले में किसी भी तरह के बदलाव की सिफारिश नहीं की गई है। इसके अलावा सरकार को सुझाव देने वाली एजेंसी कहा है कि ऐसे लोग जो कोरोना की चपेट में आ चुके हैं, उन्हें छह महीने तक वैक्सीनेशन नहीं कराना चाहिए। इस एजेंसी ने गर्भवती महिलाओं को वैक्सीन के बारे में विकल्प देने की सिफारिश की है।

बहरहाल, शुरुआत में कोवीशील्ड के दोनों डोज के बीच चार से छह हफ्ते, यानी 28 से 42 दिन का अंतर रखा जाता था। इसके बाद इसे बढ़ाते हुए छह से आठ हफ्ते यानी 42 से 56 दिन कर दिया गया था। अब इसे और बढ़ा कर 12 से 16 हफ्ते कर दिया गया है। कहा जा रहा है कि शोध से ऐसा पता चला है कि ज्यादा अंतर होने पर वैक्सीन ज्यादा असरदार है। ब्रिटेन में कोवीशील्ड को मंजूरी देते हुए कहा था कि दो डोज में तीन महीने का अंतर रखा तो वैक्सीन का असर 80 फीसदी तक रहता है।

बच्चों पर परीक्षण की मंजूरी

कोरोना वायरस की तीसरी लहर आने और उसमें बच्चों के ज्यादा प्रभावित होने की चेतावनी के बीच भारत सरकार ने बड़ा फैसला किया है। ड्रग्स कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया यानी डीसीजीआई ने गुरुवार को भारत बायोटेक की कोवैक्सीन को दो से 18 साल के बच्चों पर परीक्षण की मंजूरी दे दी है। दुनिया की कई और वैक्सीन का बच्चों पर परीक्षण चल रहा है और अमेरिका ने बच्चों को लगने वाली फाइजर की वैक्सीन की मंजूरी भी दे दी है।

बहरहाल, भारत सरकार को पहले सब्जेक्ट एक्सपर्ट कमेटी ने बच्चों पर परीक्षण की सिफारिश की थी। बताया जा रहा है कि भारत बायोटेक की ओर से यह परीक्षण 525 वॉलंटियर्स पर किया जाएगा। यह दो से 18 साल के बच्चों पर किया जा रहा कोवैक्सीन के क्लीनिकल ट्रायल का दूसरी और तीसरा चरण होगा। परीक्षण के दौरान पहली और दूसरी वैक्सीन का डोज 28 दिनों के अंतर पर दिया जाएगा।

- Advertisement -spot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

साभार - ऐसे भी जानें सत्य

Latest News

Monsoon का आज UP में प्रवेश! दिल्ली-राजस्थान समेत कई राज्यों में बारिश की संभावना, मुंबई में दो दिन मूसलाधार का अलर्ट

नई दिल्ली | Monsoon 2021 Latest Update: उत्तर प्रदेश के लोगों के लिए सुखद खबर है कि राज्य में मानसून...

More Articles Like This