समाचार मुख्य

भाजपा सांसद का पार्टी से इस्तीफा

अहमदाबाद। छोटी-छोटी सहयोगी पार्टियों के भाजपा से अलग होने की खबरों के बीच उसे गुजरात में एक बड़ा झटका लगा है। प्रधानमंत्री और गृह मंत्री के गृह राज्य गुजरात की भरूच लोकसभा सीट से सांसद और आदिवासी नेता मनसुखभाई धनजीभाई वसावा ने पार्टी से इस्तीफा दे दिया है। उन्होंने यह भी कहा है कि वे जल्दी ही लोकसभा की सदस्यता से भी इस्तीफा देंगे। माना जा रहा है कि अगले महीने शुरू होने वाले संसद सत्र से पहले वे लोकसभा से इस्तीफा दे सकते हैं।

मनसुखभाई वसावा ने गुजरात भाजपा के अध्यक्ष सीआर पाटिल को मंगलवार को पत्र लिख कर इस्तीफे की जानकारी दी। पत्र में वसावा ने लिखा- मेरी गलतियों के चलते पार्टी को नुकसान न पहुंचे, इसके चलते मैं अपना इस्तीफा दे रहा हूं। उन्होंने इसी चिट्ठी में लिखा है कि वे जल्दी ही लोकसभा सीट से भी इस्तीफा देंगे।

उन्होंने इस साल मई से लेकर दिसंबर तक प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री को पांच शिकायती पत्र लिखे थे। इसके बाद ही वे विवादों में आए थे। वसावा ने आखिरी बार 20 दिसंबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखा था, जिसमें उन्होंने कहा था कि भारत के राजपत्र के माध्यम से नर्मदा जिला के 121 गांवों को ईको सेंसेटिव जोन में शामिल किया गया है। जोन घोषित होते ही सरकारी लोगों का किसानों की जमीनों पर दखल बढ़ गया है। इससे पहले तीन दिसंबर को राज्य के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी को उन्होंने पत्र लिखा था, जिसमें कहा था कि राज्य की आदिवासी लड़कियों को लव जिहाद का शिकार बना कर उनका शारीरिक शोषण कर उन्हें बेचा जा रहा है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *