nayaindia यूपी ने दी रेप नहीं होने की दलील - Naya India
समाचार मुख्य| नया इंडिया|

यूपी ने दी रेप नहीं होने की दलील

नई दिल्ली। उत्तर प्रदेश सरकार ने हाथरस गैंगरेप और हत्या के मामले में सुप्रीम कोर्ट में एक हलफनामा दायर किया है, जिसमें उसने फॉरेंसिक रिपोर्ट सौंपी है। इस रिपोर्ट में बलात्कार के सबूत नहीं मिलने का जिक्र है। अदालत ने मंगलवार को सुनवाई के दौरान पीड़ित परिवार की सुरक्षा और गवाहों की सुरक्षा के बारे में पूछा। अदालत ने यह भी कहा कि वह ये सुनिश्चित करेगी कि जांच निष्पक्ष तरीके से हो।

चीफ जस्टिस एसए बोबडे ने याचिकाकर्ता की वकील इंदिरा जयसिंह से कहा- हाथरस की घटना भयानक और चौंकाने वाली थी। हम नहीं चाहते कि बार-बार दलीलें दोहराई जाएं। आपको इसलिए सुन रहे हैं, क्योंकि यह असाधारण मामला है। हम सुनिश्चित करेंगे कि जांच सही तरीके से हो। अदालत ने यूपी सरकार की तरफ से पेश हुए सॉलिसीटर जनरल तुषार मेहता से पूछा कि पीड़ित परिवार और गवाहों की सुरक्षा के लिए क्या इंतजाम किए जा रहे हैं इसकी जानकारी हालफनामा देकर बताएं। इस मामले में अगले हफ्ते फिर सुनवाई होगी।

अदालत ने यह भी पूछा कि पीड़ित परिवार और गवाहों की सुरक्षा के लिए क्या कर रहे हैं? क्या पीड़ित परिवार ने वकील चुन लिया है? क्या इलाहाबाद हाई कोर्ट की कार्यवाही से इस केस का दायरा बढ़ सकता है? अदालत के सवालों पर तुषार मेहता ने कहा- पीड़ित परिवार को पहले ही सुरक्षा मुहैया करवाई जा चुकी है। कोर्ट के बाहर कई तरह की बातें हो रही हैं। किसी केंद्रीय एजेंसी से जांच करवाने और निगरानी रखने से यह सिलसिला रुक सकता है।

इससे पहले उत्तर प्रदेश सरकार की तरफ से अदालत में एक हलफनामा दिया गया। इसमें कहा गया- स्वतंत्र और निष्पक्ष जांच के लिए सीबीआई जांच के आदेश दिए जाएं। सुप्रीम कोर्ट को खुद भी सीबीआई जांच की निगरानी करनी चाहिए। इस हलफनामे में रात में अंतिम संस्कार किए जाने को सही बताया गया है। इसमें कहा गया है- पीड़ित का अंतिम संस्कार रात में इसलिए किया गया, क्योंकि दिन में हिंसा भड़कने की आशंका थी। इंटेलीजेंस इनपुट मिला था कि इस मामले को जातिवाद का मुद्दा बनाया जा रहा है और पीड़ित के अंतिम संस्कार में लाखों प्रदर्शनकारी जमा हो सकते हैं।

Leave a comment

Your email address will not be published.

one + 5 =

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
आंखों से जो उतरी है दिल में
आंखों से जो उतरी है दिल में