पीछे हटी भारत, चीन की सेनाएं

नई दिल्ली। लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा, एलएसी पर दो महीने तक रहे गतिरोध के बाद भारत और चीन की सेनाओं के पीछे हटने का काम कई जगहों पर पूरा हो गया है। रविवार को दोनों देशों के बीच हुई वार्ता में बनी सहमति के आधार पर भारत और चीन की सेना विवाद की जगहों से पीछे हट रही है। इस बीच यह भी बताया गया है कि शुक्रवार को एक बार फिर कूटनीतिक स्तर की बातचीत होगी।

जानकार सूत्रों के हवाले से गुरुवार को खबर आई कि हॉट स्प्रिंग यानी पेट्रोलिंग प्वाइंट-17 पर भारत और चीन के पीछे हटने का काम पूरा हो चुका है। इसी के साथ पेट्रोलिंग प्वाइंट-14, पेट्रोलिंग प्वाइंट-15 और पेट्रोलिंग प्वाइंट-17 पर दोनों सेनाओं का पीछे हटने का काम अब पूरा हो चुका है। जानकार सूत्रों के मुताबिक, लद्दाख में फिंगर 4 से फिंगर 8 एरिया से भी चीनी सेना लगातार पीछे हट रही है। यह प्रक्रिया कुछ दिनों में पूरी हो जाएगी।

दोनों देशों की सेनाओं के पीछे हटने की प्रक्रिया के बीच खबर है कि शुक्रवार को भारत-चीन के कूटनीतिक वार्ता होगी। सूत्रों के अनुसार, राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोवाल की चीन के विदेश मंत्री मंत्री वांग यी से वीडियो कॉल के बाद शुक्रवार को पहली बार भारत-चीन सीमा पर कूटनीतिक स्तर पर वार्ता होगी। गौरतलब है कि गलवान घाटी में 15 जून की रात को हुई हिंसक झड़प के बाद दोनों देशों के बीच सेना के अफसरों के बीच कई दौर की बात हुई, लेकिन सहमति नहीं बन आई थी। इसके बाद राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोवाल की चीन के विदेश मंत्री मंत्री वांग यी से वीडियो कॉल पर दो घंटे चर्चा की। बातचीत के कुछ ही घंटे बाद चीन ने सेना वापस बुलाने का फैसला किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Shares