सैन्य कमांडरों की फिर हुई वार्ता

नई दिल्ली।  लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा, एलएसी पर चीन के साथ चल रहे तनाव के बीच दोनों देशों के सैन्य कमांडरों की एक बार फिर बैठक हुई है। जून महीने में दोनों देशों के बीच लेफ्टिनेंट जनरल स्तर की यह तीसरी वार्ता थी। इससे पहले दो बार वार्ता एलएसी के दूसरी तरफ चीन के मोल्डो में हुई थी। इस बार भारत की तरफ चुशुल में हुई। माना जा रहा है कि दोनों देशों के सैन्य कमांडरों के बीच तनाव घटाने के उपायों पर चर्चा हुई।

भारत की ओर से इस वार्ता में 14 कोर के कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल हरिंदर सिंह शामिल हुए। पहले की दो वार्ताओं में ही उन्होंने ही हिस्सा लिया था। मंगलवार को हुई बैठक में पूर्वी लद्दाख की विवाद वाली जगहों से सैनिक हटाने के मुद्दे पर चर्चा की उम्मीद है। दोनों देशों के बीच लेफ्टिनेंट जनरल स्तर की इस महीने तीसरी और 15 जून को गलवान में हुई झड़प के बाद दूसरी मीटिंग है। पिछली दो बैठकों में भी तनाव कम करने और विवादित इलाकों से सैनिक हटाने पर चर्चा हुई थी। दोनों देशों के बीच ऐसी पहली बैठक छह जून को और दूसरी 22 जून को हुई थी।

बहरहाल, चीन एक तरफ बातचीत कर रहा है, दूसरी ओर घुसपैठ से बाज नहीं आ रहा। पिछले हफ्ते खबर आई कि चीनी सेना ने देपसांग में एलएसी से 18 किमी अंदर भारतीय इलाके में घुसपैठ की। सेटेलाइट इमेज के हवाले से मीडिया रिपोर्ट में कहा गया कि चीन की सेना भारतीय सीमा में उस जगह के करीब घुस आई, जिसे बॉटलनेक कहा जाता है। यह इलाका रैकी नाला और जीवान नाला नाम से जाना जाता है। इसी इलाके में 2013-14 में भारत और चीन आमने-सामने हुए थे।

इस, बीच खबर है कि रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह अगले कुछ दिनों में अमेरिका के रक्षा मंत्री  मार्क एस्पर से फोन पर बात करेंगे। इस बातचीत में चीन के मुद्दे पर चर्चा होने के भी आसार हैं। यह बातचीत मंगलवार को होनी थी, लेकिन अब कहा जा रहा है कि किसी और दिन होगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Shares