कुलपति को हटाने की हुई मांग - Naya India
समाचार मुख्य| नया इंडिया|

कुलपति को हटाने की हुई मांग

नई दिल्ली। जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी, जेएनयू में रविवार की रात को हुई हिंसा के बाद यूनिवर्सिटी के कुलपति एम जगदीश कुमार को हटाने की मांग तेज हो गई है। केंद्र में सत्तारूढ़ भाजपा की सहयोगी जनता दल यू ने भी कुलपति को हटाने की मांग की है। जदयू ने इस मामले की जांच सुप्रीम कोर्ट के जज से कराने की भी मांग की है। कांग्रेस और कम्युनिस्ट पार्टियां पहले से इसकी मांग करती रही हैं। उन्होंने एक बार फिर कुलपति का हटाने की मांग दोहराई है।

जदयू के राष्ट्रीय प्रवक्ता केसी त्यागी ने कहा है कि उनकी पार्टी जेएनयू परिसर में गुंडा तत्वों की हिंसक गतिविधियों की कड़ी निंदा करती है और नकाबपोश बाहरी तत्वों ने जिस तरीके से जेएनयू छात्र संघ के निर्वाचित पदाधिकारियों पर हमला किया, उसकी समाज के सभी वर्गों को निंदा करनी चाहिए। त्यागी ने जेएनयू के छात्रों के साथ अपनी पार्टी की एकजुटता दिखाते हुए कहा- हम विश्वविद्यालय के कुलपति और अन्य अधिकारियों के रवैए की कड़ी निंदा करते हैं जो इन गुंडों के गंदे खेल के मूक दर्शक बन गये हैं। पुलिस अफसर भी अपनी जिम्मेदारी अदा करने में नाकाम रहे।

उन्होंने कहा- जदयू उच्चतम न्यायालय के एक न्यायाधीश द्वारा निष्पक्ष और स्वतंत्र जांच और निष्पक्ष मुकदमे की मांग करती है। कुलपति और अन्य शीर्ष प्रशासनिक अधिकारियों को उनके पदों से हटाया जाना चाहिए। जेएनयू छात्र संघ की अध्यक्ष आइशी घोष ने कुलपति जगदीश कुमार पर अक्षम होने का आरोप लगाते हुए उन्हें पद से हटाने की मांग की। सीपीएम महासचिव और जेएनयू छात्र संघ के पूर्व अध्यक्ष सीताराम येचुरी ने कहा- कुलपति भी इस हमले में शामिल रहे। उन्हें तत्काल हटाया जाना चाहिए।

जेएनयू शिक्षक संघ ने भी कुलपति को हटाने की मांग की है। शिक्षक संघ ने कहा है कि कुलपति या तो इस्तीफा दे दें या मानव संसाधन विकास मंत्रालय को उन्हें हटा देना चाहिए। उन्होंने आरोप लगाया- वे कायर कुलपति हैं, जिन्होंने पिछले दरवाजे से अवैध नीतियों को लागू किया, जो छात्रों या शिक्षकों के सवालों से भागते हैं और जेएनयू की छवि बिगाड़ने के हालात बनाते हैं।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
टकराव का नया बिंदु
टकराव का नया बिंदु