कश्मीर में शुरू हुई 2जी मोबाइल सेवा

श्रीनगर। आखिरकार जम्मू कश्मीर में मोबाइल और इंटरनेट की सेवाएं शुरू हो गईं। पांच महीने और 20 दिन तक इंटरनेट पर रोक के बाद शनिवार को आधी रात से कश्मीर घाटी के लोग मोबाइल सेवा का इस्तेमाल कर पाएंगे। जम्मू कश्मीर प्रशासन ने शनिवार को आधी रात से मोबाइल और इंटरनेट सेवा बहाल करने का फैसला किया। हालांकि अब भी घाटी के लोग सरकार की ओर से मंजूरशुदा तीन सौ वेबसाइट्स ही एक्सेस कर पाएंगे। सोशल मीडिया की वेबसाइट्स के इस्तेमाल पर पाबंदी जारी रहेगी।

प्रशासन की ओर से जारी अधिसूचना के मुताबिक, 25 जनवरी से मोबाइल 2जी इंटरनेट सेवाएं शुरू कर दी गईं। इससे पहले, 15 जनवरी को प्रशासन ने इंटरनेट और ब्रॉडबैंड सेवाएं आंशिक रूप से बहाल कर दिया था। जम्मू, सांबा, कठुआ, उधमपुर और रियासी में सिर्फ सात दिन के लिए पोस्टपेड मोबाइल सेवाओं पर 2जी इंटरनेट कनेक्टिविटी शुरू की गई थी।

प्रशासन ने इंटरनेट सेवा चालू करते हुए यह भी कहा कि सोशल मीडिया साइट्स पर पाबंदी जारी रहेगी। प्रशासन की ओर से जिन वेबसाइट्स को मंजूरी दी गई है, उनमें सर्च इंजन और बैंकिंग, शिक्षा, समाचार, यात्रा, सुविधाएं और रोजगार से जुड़ी साइट्स हैं। पोस्टपेड और प्रीपेड सिम कार्ड पर डाटा सुविधा उपलब्ध होगी। मोबाइल फोन पर 2जी इंटरनेट सेवा 31 जनवरी तक बहाल रहेगी और इसके बाद इसकी समीक्षा की जाएगी।

जानकार सूत्रों के मुताबिक, सुरक्षा एजेंसियों से मिली रिपोर्ट और हालातों को सामान्य होने के बाद प्रशासन की ओर से इंटरनेट सेवाओं को बहाल करने का फैसला लिया गया। पिछले साल पांच अगस्त को जम्मू कश्मीर को विशेष राज्य का दर्जा देने वाले संविधान के अनुच्छेद 370 के ज्यादातर प्रावधानों को हटाए जाने के बाद तमाम तरह की मोबाइल और इंटरनेट सेवाओं पर पाबंदी लगा दी गई हैं।

सरकार का कहना था कि अफवाह फैलने से रोकने के लिए ऐहतियातन इंटरनेट सेवाओं पर रोक लगाई गई। इस बीच 10 जनवरी को सुप्रीम कोर्ट ने कश्मीर में इंटरनेट पर जारी रोक और वहां लागू धारा 144 पर फैसला सुनाया था। इसमें अदालत ने कहा था कि इंटरनेट संविधान के अनुच्छेद 19 के तहत लोगों का मौलिक अधिकार है। अदालत ने कहा था कि इसको अनिश्चितकाल के लिए बंद नहीं किया जा सकता। अदालत ने सरकार से सभी पाबंदियों की सात दिन के अंदर समीक्षा करने और इसके आदेश को सार्वजनिक करने का भी निर्देश दिया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Shares