कांग्रेस ने राज्यपाल पर उठाए सवाल

नई दिल्ली। महाराष्ट्र में सरकार बनाने के मामले में सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद कांग्रेस ने संवैधानिक पदों पर बैठे लोगों पर तीखी प्रतिक्रिया दी है। कांग्रेस ने राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री और महाराष्ट्र के राज्यपाल तीनों को निशाना बनाया है। कांग्रेस के प्रवक्ता मनीष तिवारी ने सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद कहा- अवैध तरीके से मुख्यमंत्री और उप मुख्यमंत्री बने लोगों ने इस्तीफा दे दिया है। हमें उम्मीद है कि राज्यपाल अपने पद का दायित्व निभाएंगे। वे महाराष्ट्र विकास अघाड़ी को सरकार बनने का न्योता दें।

इससे पहले कांग्रेस के मीडिया प्रभारी रणदीप सुरजेवाला ने ट्विट कर कहा- जनमत को अगवा करने वालों के अल्पमत की पोल खुल ही गई। अब साफ है कि भाजपा में चाणक्य नीति के मायने प्रजातंत्र का अपहरण है। उन्होंने कहा- देवेंद्र फड़नवीस और अजित पवार को महाराष्ट्र की जनता से माफी मांगनी चाहिए। उनकी सरकार झूठ व दलबदल पर आधारित थी जो ताश के पत्तों सी गिर गई।

सुरजेवाला ने कहा- आज का दिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व गृह मंत्री अमित शाह की जबाबदेही भी सुनिश्चित करने का है। उन्होंने सवालिया लहजे में कहा- महाराष्ट्र में प्रजातंत्र का तमाशा क्यों बनाया? राज्यपाल को कठपुतली की तरह इस्तेमाल क्यों किया? राष्ट्रपति की गरिमा को ठेस क्यों पहुंचाई? सुरजेवाला ने कहा- नरेंद्र मोदी व अमित शाह जबाब दें कि देश के मंत्रिमंडल को पंगु क्यों बनाया? दलबदल और खरीद फरोख्त का नंगा तांडव क्यों? एक अल्पमत की सरकार बना इतने दिन तक बहुमत का ड्रामा क्यों? भ्रष्टाचार के मुक़दमे वापस क्यों लिए? संविधान की धज्जियां क्यों उड़ाई?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Shares