nayaindia प्रधानमंत्री की बैठक, भड़कीं ममता - Naya India
देश | पश्चिम बंगाल | समाचार मुख्य| नया इंडिया|

प्रधानमंत्री की बैठक, भड़कीं ममता

कोलकाता। कोरोना वायरस के प्रबंधन को लेकर गुरुवार को हुई प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की बैठक को लेकर ममता बनर्जी ने बड़ी नाराजगी जताई है और बड़ा आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि वे वैक्सीन की आपूर्ति के बारे में बात करना चाहती थीं पर उनको बोलने नहीं दिया गया। उन्होंने यह भी कहा कि सभी राज्यों के मुख्यमंत्री कठपुतली की तरह बैठक में बैठे रहे और सिर्फ प्रधानमंत्री ही बोले। गौरतलब है कि प्रधानमंत्री ने गुरुवार को कोरोना महामारी पर नियंत्रण को लेकर 10 राज्यों के 54 जिले के कलेक्टरों के साथ वर्चुअल बैठक की।

प्रधानमंत्री की इस वर्चुअल बैठक में बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी भी शामिल हुईं, लेकिन उनके राज्य का कोई कलेक्टर शामिल नहीं हुआ। इस बैठक के बाद ममता ने प्रेस कांफ्रेंस कर नाराजगी जाहिर की। उन्होंने कहा कि बैठक में 10 राज्यों के मुख्यमंत्री मौजूद थे, लेकिन किसी को बोलने नहीं दिया गया। ये अपमानजनक है। उन्होंने कहा कि मीटिंग में सभी मुख्यमंत्री कठपुतली की तरह बैठे रहे, किसी ने भी कुछ नहीं कहा।

ममता बनर्जी ने कहा- हमें बंगाल के लिए तीन करोड़ वैक्सीन की मांग करनी थी, लेकिन बोलने ही नहीं दिया गया। केंद्र से हमें इस महीने 13 लाख ही वैक्सीन मिली हैं, जबकि 24 लाख की सप्लाई की जानी थी। उन्होंने कहा कि वे मीटिंग में बतौर सीएम वे मौजूद थीं, इसलिए कलेक्टरों को शामिल नहीं होने दिया गया।

ममता ने केंद्र सरकार पर राज्यों के साथ भेदभाव करने का भी आरोप लगाया। उन्होंने कहा- बंगाल में कोरोना केस बढ़ने पर केंद्र सरकार ने फौरन एक टीम भेज दी, लेकिन गंगा में शव मिलने के बाद वहां कोई टीम नहीं गई। वैक्सीन, दवाई, ऑक्सीजन कुछ भी मुहैया नहीं हो पा रहा है। केंद्र सरकार ने संघीय ढांचे को नुकसान पहुंचाया है। ममता ने बंगाल में वैक्सीनेशन की स्पीड कम होने के लिए केंद्र सरकार को दोषी ठहराया। उन्होंने कहा- हमने प्राइवेट तौर पर 60 करोड़ रुपए की वैक्सीन खरीदी है। ममता ने वैक्सीन की दूसरी डोज तीन महीने बाद दिए जाने पर भी सवाल उठाए। कहा कि केंद्र को इसके पीछे छिपे कारण स्पष्ट करने चाहिए।

Leave a comment

Your email address will not be published.

three × two =

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
अंतिम वैश्विक महारानी को विदाई!
अंतिम वैश्विक महारानी को विदाई!