समाचार मुख्य

व्हील चेयर पर ममता का रोड शो

कोलकाता। नामांकन के बाद एक कथित हमले में घायल हुईं पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी चार दिन के बाद फिर प्रचार में उतरीं। रविवार को उन्होंने व्हील चेयर पर बैठ कर पांच किलोमीटर लंबा रोड शो किया। इस दौरान उनके समर्थक ‘भंग पाये खेला होबे’ का नारा लगाते रहे। इसका मतलब है कि ‘टूटे पैर से खेलेंगे’। ममता ने यह भी कहा कि घायल शेर ज्यादा खतरनाक होता है। गौरतलब है कि ममता बनर्जी ने कुछ दिन पहले ही ‘खेला होबे’ का नारा दिया था, जो इन दिनों बंगाल की राजनीति में बहुत इस्तेमाल हो रहे हैं।

बहरहाल, 10 मार्च को नंदीग्राम में नामांकन के बाद प्रचार करते वक्त ममता के बाएं पैर, सिर और सीने में चोट लगी थी। उसके बाद उनको कोलकाता के एक अस्पताल में भरती कराया गया था। अस्पताल से छुट्टी मिलने के बाद ममता पहली बार प्रचार के लिए रविवार को निकलीं। इस दौरान ममता ने यह भी कहा कि घायल शेर ज्यादा खतरनाक होता है। चोटिल ममता के प्रचार में उतरने के बाद भाजपा ने मुख्य चुनाव अधिकारी को पत्र लिख कर ममता बनर्जी के इलाज की सारी बातें सार्वजनिक करने की मांग की है।

इससे पहले पार्टी के वरिष्ठ नेताओं और समर्थकों की भीड़ के साथ ममता ने दक्षिण कोलकाता के मेयो रोड पर महात्मा गांधी की मूर्ति से मार्च शुरू किया। एक घंटे चले रोड शो के बाद ममता ने हजरा में रैली की। उन्होंने कहा- मुझे रोकने के लिए नाकाम कोशिशें की गईं। मैं तृणमूल के लिए के लिए व्हील चेयर पर ही पूरे प्रदेश में प्रचार करूंगी। मैंने अपने जीवन में कई हमलों का सामना किया है, लेकिन कभी किसी के सामने आत्मसमर्पण नहीं किया। मैं कभी अपना सिर नहीं झुकाऊंगी। ममता ने बताया कि डॉक्टरों ने उन्हें सलाह दी थी कि वे प्रचार के लिए न जाएं, लेकिन उन्हें लगा कि यह रैली करनी चाहिए। ममता ने कहा- मेरी चोट की वजह से हम पहले ही कुछ दिन गंवा चुके हैं। उन्होंने कहा कि वे रविवार की शाम को दुर्गापुर के लिए रवाना होंगी। वहां वे सोमवार को दो रैलियां करेंगी।

Latest News

राजनीति में उफान, लाचार मोदी!
गपशप | NI Desk - June 19,2021
वक्त बदल रहा है। बंगाल में भाजपाई तृणमूल कांग्रेस में जाते हुए हैं तो त्रिपुरा की भाजपा सरकार पर खतरे के बादल…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *