तूफान से निपटने पर मोदी ने की चर्चा

नई दिल्ली।  बंगाल की खाड़ी में उठे चक्रवाती तूफान से निपटने की रणनीति पर सोमवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक उच्चस्तरीय बैठक की और इससे प्रभावित होने वाले राज्यों को हरसंभव मदद का भरोसा दिलाया। इस बीच खबर है कि चक्रवाती तूफान अम्फान अब तेज होने लगा है। खाड़ी के मध्य भाग में रविवार रात ढाई बजे से इसका स्वरूप बड़ा होने लगा था और सोमवार को देर शाम से इसका रूप और बड़ा हो जाएगा।

भारतीय मौसम विभाग के मुताबिक, तूफान खाड़ी के दक्षिणी इलाके से उत्तर-पूर्व की तरफ मुड़ चुका है। यहीं पश्चिम बंगाल और बांग्लादेश के तटीय इलाके हैं। 20 मई की दोपहर तक यह तूफान पश्चिम बंगाल के दीघा और बांग्लादेश के हटिया द्वीप के पास टकरा सकता है। इस दौरान इसकी रफ्तार 870 किलोमीटर प्रति घंटे होने का अनुमान है। च्रकवात के असर से ओड़िशा और पश्चिम बंगाल के तटीय क्षेत्रों में तेज हवाएं चलने और भारी बारिश की आशंका है।

तभी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने तूफान से निपटने की तैयारियों और इससे पैदा होने वाले हालात का जायजा लेने के लिए गृह मंत्रालय और राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण, एनडीएमए की उच्चस्तरीय बुलाई। इसके बाद मोदी ने कहा- मैं सभी की सुरक्षा की प्रार्थना करता हूं। केंद्र सरकार की ओर से हरसंभव मदद की जाएगी।

इस बीच एनडीआरएफ के महानिदेशक एसएन प्रधान ने कहा- चक्रवात अम्फान से ओड़िशा और पश्चिम बंगाल सबसे ज्यादा प्रभावित होंगे। इससे निपटने के लिए ओड़िशा में 13 और पश्चिम बंगाल में 17 टीमें तैनात की गई हैं। प्रधानमंत्री के साथ हुई समीक्षा बैठक में यह तय किया गया है कि एनडीआरएफ की कुछ टीमें विमान से जाने के लिए भी तैयार रहें ताकि आपातकालीन स्थिति में लोगों की मदद की जा सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Shares