करतारपुर को लेकर विरोधाभासी रपट - Naya India
समाचार मुख्य| नया इंडिया|

करतारपुर को लेकर विरोधाभासी रपट

नई दिल्ली। करतारपुर गलियारे के उद्घाटन में दो दिन से भी कम समय है और भारत ने कहा है कि सीमा पार से विरोधाभासी रिपोर्टें आ रहीं हैं। विदेश मंत्रालय ने कहा कि पाकिस्तान के पंजाब में करतारपुर के गुरुद्वारा दरबार साहिब की यात्रा के लिए भारतीयों के पास पासपोर्ट होना अनिवार्य है। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार की यह टिप्पणी पाकिस्तान की सेना के बयान के बाद आई है जिसमें पाकिस्तानी सेना के प्रवक्ता ने कहा कि करतारपुर आने वाले भारतीय तीर्थयात्रियों के लिए वीसा जरूरी होगा। इससे पहले पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने ट्वीट करके घोषणा की थी कि तीर्थयात्रियों को पासपोर्ट की जरूरत नहीं होगी।

वास्तविक स्थिति पूछे जाने पर कुमार ने कहा कि दोनों देशों के बीच एक करार पर दस्तखत किए हैं और उसमें पासपोर्ट की अनिवार्यता लिखी है। वास्तविकता में यात्रा का यह नियम तब तक लागू होगा जब तक कि समझौते के संशोधित स्वरूप पर दस्तखत ना हो जाएं। पाकिस्तान या भारत को समझौते में एकतरफा बदलाव करने या घोषणा करने का कोई हक नहीं है।

एक अन्य प्रश्न के उत्तर में उन्होंने कहा कि भारत ने नौ नवंबर को उद्घाटन कार्यक्रम के तहत करतारपुर जाने वाले 576 लोगों की सूची पाकिस्तान को 30 अक्टूबर को सौंपी थी जिस पर पांच नवंबर तक पाकिस्तान की स्वीकृत आ जानी थी। उन्होंने औपचारिक स्वीकृत नहीं आने का संकेत देते हुए कहा कि हम मान कर चल रहे हैं कि स्वीकृति मिल जाएगी और इसी दृष्टि से हमने उन सभी लोगों को कह दिया है कि वे चलने को तैयार रहें। करतारपुर गलियारे के खुलने के बाद दोनों देशों के बीच शांति वार्ता दोबारा शुरू होने की संभावना के बारे में पूछे जाने पर प्रवक्ता ने कहा कि हमने कभी नहीं कहा कि इस गलियारे के खुलने से शांतिवार्ता दोबारा शुरू होगी। भारत का रुख बहुत स्पष्ट है कि पाकिस्तान अपने नियंत्रण वाले क्षेत्रों में आतंकवादियों के खिलाफ विश्वसनीय कार्रवाई करे और आतंकी ढांचा नष्ट करे तभी आतंक से मुक्त माहौल में द्विपक्षीय बातचीत शुरू हो सकती है।

करतारपुर साहिब जाएंगे सिद्धू

पंजाब कांग्रेस के नेता नवजोत सिंह सिद्धू को शनिवार को पाकिस्तान में होने वाले करतारपुर गलियारा उद्घाटन समारोह में शामिल होने की राजनीतिक मंजूरी सरकार से मिल गई। आधिकारिक सूत्रों ने यह जानकारी दी। पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान द्वारा निमंत्रण मिलने के बाद सिद्धू ने विदेश मंत्रालय से कार्यक्रम में शामिल होने की इजाजत मांगी थी। सूत्र ने कहा कि सिद्धू को नौ नवंबर को करतारपुर साहिब गलियारा की यात्रा की राजनीतिक मंजूरी दे दी गई है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
संसद का बजट सत्र 31 जनवरी से
संसद का बजट सत्र 31 जनवरी से