राष्ट्रीय शिक्षा नीति से युवाओं का भविष्य सशक्त बनेगा : राष्ट्रपति

नई दिल्ली। राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने आज कहा कि नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति (एनईपी) युवाओं के भविष्य को मजबूत करने में एक मील का पत्थर साबित होगा और इससे देश के लिए ‘आत्मनिर्भर भारत’ बनने का मार्ग प्रशस्त होगा।

29 जुलाई को केंद्रीय मंत्रिमंडल ने एनईपी 2020 को मंजूरी दी थी, जिसका उद्देश्य देश में स्कूलों और उच्च शिक्षा प्रणाली में परिवर्तनकारी सुधार करना है। इसने शिक्षा पर 34 वर्षीय पुरानी नीति की जगह ली।

राष्ट्रपति ने एक बयान में कहा, एनईपी 2020 के प्रभावी कार्यान्वयन से शिक्षा के एक प्रमुख केंद्र के रूप में भारत की छवि को पुन: गौरव प्राप्त होगा। यह हमारे देश के इतिहास में एक मील का पत्थर साबित होगा। यह न केवल हमारे युवाओं का भविष्य सशक्त बनेगा, बल्कि यह हमारे देश को ‘आत्मनिर्भर भारत’ बनने की दिशा में भी आगे ले जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Shares