चीन, कृषि, जीएसटी पर बोले राहुल

नवादा/भागलपुर।  कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी शुक्रवार को बिहार चुनाव के लिए अपनी रैलियों का सिलसिला शुरू किया। उन्होंने बिहार में दो सभाएं कीं और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा। राहुल के भाषण में केंद्र के बनाए तीन नए कृषि कानून, जीएसटी और चीन का मुद्दा मुख्य रहा। उन्होंने भारतीय सीमा में घुस कर चीन के भारतीय जमीन कब्जा करने का आरोप लगाया और प्रधानमंत्री से पूछा कि हिंदुस्तान की जमीन से चीनी सैनिकों को कब भगाया जाएगा। राहुल ने यह भी आरोप लगाया कि प्रधानमंत्री देश के उद्योगपतियों अंबानी, अडानी के लिए काम करते हैं।

राहुल गांधी ने आरोप लगाते हुए कहा कि किसी चीनी सैनिक के हिंदुस्तान की जमीन पर मौजूद नहीं होने की बात कह कर प्रधानमंत्री ने सैनिकों का अपमान किया है। राहुल गांधी ने हाल में बनाए गए कृषि संबंधी तीन कानून, जीएसटी, लॉकडाउन के दौरान प्रवासी मजदूरों का पलायन और नोटबंदी सहित विभिन्न राष्ट्रीय मुद्दों पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को कटघरे में खड़ा करने का प्रयास किया।

राजद नेता तेजस्वी यादव के साथ नवादा की रैली को संबोधित कर रहे राहुल ने बिहार में बेरोजगारी का मुद्दा भी उठाया। इस मुद्दे पर केंद्र और बिहार की एनडीए सरकार को घेरते हुए राहुल गांधी ने आरोप लगाया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने नोटबंदी, जीएसटी और कोरोना वायरस संकट के समय लोगों की आर्थिक मदद नहीं कर किसानों, छोटे कारोबारियों, मजदूरों, छोटे उद्यमियों की कमर तोड़ दी है।

राहुल गांधी ने चीन के  साथ गतिरोध का मुद्दा उठाते हुए कहा- चीन की सेना हिंदुस्तान की सीमा के अंदर है। सवाल ये है कि जब चीनी सैनिक हमारी जमीन के अंदर आए, तो हमारे प्रधानमंत्री ने हमारे वीरों का अपमान करते हुए यह क्यों बोला कि हिंदुस्तान के अंदर कोई नहीं आया? उन्होंने प्रधानमंत्री से सवाल किया- बताएं कि चीन के सैनिकों को हिंदुस्तान की धरती से कब भगाया जाएगा? सवाल यह है कि हमारे पवित्र देश के भीतर चीन की सेना क्यों?

राहुल ने लोगों से पूछा- नोटबंदी का क्या फायदा हुआ? उन्होंने आरोप लगाया कि गरीब का पैसा हिंदुस्तान के अमीरों के खाते में गया और अंबानी और अडानी के लिए नरेंद्र मोदी रास्ता साफ कर रहे हैं। राहुल गांधी ने कहा- प्रधानमंत्री ने पिछले चुनाव में कहा था कि दो करोड़ लोगों को नौकरियां देंगे, क्या नौकरियां मिलीं? किसी को नहीं मिली। जीरो। उन्होंने कहा- नरेंद्र मोदी सैनिकों, किसानों, मजदूरों, छोटे व्यापरियों आदि के सामने सिर झुकाने की बात करते हैं लेकिन काम तो वह अंबानी और अडाणी का करते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Shares