संक्रमण संख्या का नया रिकार्ड

नई दिल्ली। भारत में कोरोना वायरस के संक्रमितों की संख्या में रिकार्ड बढ़ोतरी का सिलसिला गुरुवार को भी जारी रहा। गुरुवार की देर शाम तक देश भर से संक्रमण के 22,507 नए मामले आए, जिसके बाद संक्रमितों की कुल संख्या 7,91,559 हो गई। गुरुवार की देर शाम तक आए आंकडों में उत्तर प्रदेश, तेलंगाना, असम जैसे कई बड़े राज्यों के आंकड़े शामिल नहीं हैं। इनके आंकड़े आने के बाद संक्रमितों की संख्या 25 हजार से ऊपर पहुंच जाएगी और एक नया रिकार्ड बन सकता है। गुरुवार की देर शाम तक देश भर से 451 लोगों के मरने की खबर आई, जिसके बाद मरने वालों की कुल संख्या 21,595 हो गई।

देश में सबसे ज्यादा संक्रमित महाराष्ट्र में गुरुवार को लगातार दूसरे दिन संक्रमितों की संख्या छह हजार से ऊपर रही। राज्य में रिकार्ड संख्या में 6,875 मामले आए, जिसके बाद संक्रमितों की संख्या बढ़ कर दो लाख 30 हजार 599 हो गई। गुरुवार को 219 लोगों की मौत हुई, जिसके बाद मरने वालों की संख्या 9,667 हो गई। राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में गुरुवार को 2,187 मामले आए, जिसके बाद संक्रमितों की संख्या बढ़ कर एक लाख सात हजार 51 हो गई।

देश में दूसरे सबसे ज्यादा संक्रमित राज्य तमिलनाडु में गुरुवार को लगातार दूसरे दिन संक्रमितों की संख्या में बढ़ोतरी हुई। राज्य में 4,231 नए मामले आए। इसके बाद संक्रमितों की संख्या बढ़ कर एक लाख 26 हजार 581 हो गई है। राज्य में गुरुवार को 65 लोगों की मौत हुई, जिसके बाद मरने वालों की कुल संख्या 1,765 पहुंच गई। सबसे ज्यादा प्रभावित राज्यों में से एक आंध्र प्रदेश में गुरुवार को दो दिन की कमी के बाद गुरुवार को संक्रमितों की संख्या में बड़ा इजाफा हुआ। राज्य में 1,556 नए मामले आए, जिसके बाद संक्रमितों की संख्या 23,814 पहुंच गई।

हरियाणा में गुरुवार को फिर एक बार संक्रमितों की संख्या में बढ़ोतरी हुई। राज्य में 674 नए मामले आए, जिसके बाद राज्य में संक्रमितों की कुल संख्या 19,364 हो गई। बिहार में गुरुवार को लगातार दूसरे दिन सात सौ से ज्यादा मामले आए। राज्य में 704 मामले आए, जिसके बाद संक्रमितों की संख्या 13,978 हो गई। गुजरात में 861 नए संक्रमित मिले वहां संक्रमितों की कुल संख्या 39,280 हो गई है। कर्नाटक में संक्रमितों की संख्या में रिकार्ड बढ़ोतरी हुई। गुरुवार को वहां 2,228 नए मामले आए। अब वहां 31,105 संक्रमित हैं।

पश्चिम बंगाल में गुरुवार को रिकार्ड संख्या में 1,088 नए मामले आए, जिसके बाद संक्रमितों की संख्या 25,911 हो गई। राज्य में 27 लोगों की मौत हुई, जिसके बाद मरने वालों की संख्या 854 हो गई है। इसके अलावा मध्य प्रदेश में 305 और राजस्थान में पांच सौ नए मामले आए। राजस्थान में संक्रमितों की संख्या 22,563 हो गई है। ओड़िशा में 577, केरल में 339, पंजाब में 233, छत्तीसगढ़ में 153, झारखंड में 58 और गोवा में 112 नए मामले आए। ये आंकड़े कोविड19इंडिया डॉट ओआरजी के आंकड़ों पर आधारित हैं। भारत सरकार के स्वास्थ्य व परिवार कल्याण मंत्रालय की वेबसाइट के मुताबिक गुरुवार की देर शाम तक कुल संक्रमितों की संख्या सात लाख 67 हजार 295 थी, जिसमें से 21,129 लोगों की मौत हो चुकी है।

बड़े सुधार का दावा

केंद्र सरकार के स्वास्थ्य व परिवार कल्याण मंत्रालय ने कोरोना वायरस के संक्रमण के मामले में बड़ी सुधार का दावा किया है। सरकार ने कहा है कि संक्रमितों की संख्या के मुकाबले ठीक होने वालों की दर में तेजी से सुधार हो रहा है। स्वास्थ्य मंत्रालय ने यह भी कहा है कि दुनिया के दूसरे देशों के मुकाबले भारत में संक्रमितों की संख्या और मृतकों की संख्या का औसत बहुत बेहतर है।

स्वास्थ्य मंत्रालय ने गुरुवार को काफी समय के बाद प्रेस कांफ्रेंस कर कोरोना के हालात की जानकारी दी। मंत्रालय के विशेष कार्य अधिकारी, ओएसडी राजेश भूषण ने बताया कि कोरोना के एक्टिव केसों के मुकाबले ठीक होने वालों की संख्या 1.75 गुना ज्यादा है। उन्होंने बताया कि देश में कोरोना से जितनी मौतें हुईं, उनमें से 53 फीसदी मरीज 60 साल या इससे ज्यादा उम्र के थे। उन्होंने बताया कि कोरोना मरीजों के ठीक होने का रिकवरी रेट बढ़कर 62.09 फीसदी हो चुकी है।

राजेश भूषण ने कहा कि विश्व स्वास्थ्य संगठन, डब्लुएचओ के मुताबिक, 10 लाख की आबादी पर भारत में 538 मामले हैं, कुछ देशों में यह आकंड़ा 16-17 गुना ज्यादा है। मौतों की संख्या भी भारत में सबसे कम है। देश में 10 लाख की आबादी में से सिर्फ 15 मौतें हो रही हैं, जबकि  कुछ देशों में यह आंकड़ा 40 गुना ज्यादा है। उन्होंने यह दावा भी किया कि भारत में अभी सामुदायिक संक्रमण नहीं शुरू हुआ है।

प्रेस कांफ्रेंस में गृह मंत्रालय की संयुक्त सचिव पुण्य सलिला श्रीवास्तव ने बताया कि दिल्ली में स्थिति में काफी सुधार हुआ है। दिल्ली में मरीजों के ठीक होने की दर राष्ट्रीय औसत से ज्यादा होकर 72 फीसदी पहुंच गई है। दिल्ली में अब रोज 20 हजार टेस्ट किए जा रहे हैं। इंडियन कौंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च, आईसीएमआर की ओर से प्रेस कांफ्रेंस में मौजूद निवेदिता गुप्ता ने बताया कि देश में हर रोज ढाई लाख से ज्यादा सैंपल टेस्ट किए जा रहे हैं। आने वाले दिनों में टेस्टिंग और बढ़ने की उम्मीद है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Shares