nayaindia मुसलमानों से नाइंसाफी नहीं: गडकरी - Naya India
kishori-yojna
समाचार मुख्य| नया इंडिया|

मुसलमानों से नाइंसाफी नहीं: गडकरी

नागपुर। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को नई दिल्ली में भाजपा की रैली में नागरिकता कानून को लेकर देश के मुसलमानों को भरोसा दिलाया तो केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने नागपुर में एक रैली में उसी अंदाज में मुसलमानों को भरोसा दिलाया। गडकरी ने शनिवार को हुई रैली में कहा कि नागरिकता कानून भारत के मुसलमानों के खिलाफ नहीं है। उन्होंने कहा कि नया कानून लाकर एनडीए सरकार मुसलमानों के साथ कोई नाइंसाफी नहीं कर रही है।

गडकरी ने कांग्रेस पर वोट बैंक की राजनीति के लिए दुष्प्रचार करने का भी आरोप लगाया। नागरिकता कानून के समर्थन में निकाली गई रैली को संबोधित करते हुए गडकरी ने मुसलमानों को भरोसा दिलाया। इस रैली का आयोजन एक स्थानीय संगठन ने किया, जिसे भाजपा और राष्ट्रीय स्वंयसेवक संघ का समर्थन प्राप्त है। गडकरी ने कहा- अफगानिस्तान, पाकिस्तान और बांग्लादेश के धार्मिक अल्पसंख्यकों को इंसाफ देने के लिए सरकार द्वारा लिया गया यह फैसला भारत के मुसलमानों के खिलाफ नहीं है। हम मुसलमानों को देश से बाहर भेजने की बात नहीं कर रहे हैं।

उन्होंने कहा कि सरकार की एकमात्र चिंता देश में रह रहे विदेशी घुसपैठियों की है। मंत्री ने कहा कि मुसलमानों को समझना चाहिए कि कांग्रेस उनके विकास में मदद नहीं कर सकती। उन्होंने कहा- कांग्रेस ने आपके लिए क्या किया है? मैं देश के मुस्लिम समुदाय से साजिश को समझने का अनुरोध करता हूं। आपका विकास भाजपा ही कर सकती है न कि कांग्रेस।  गडकरी ने कहा- आप साइकिल रिक्शा चलाते थे, हमने आपको ई रिक्शा दिया और आपको अपने पैरों पर खड़े होने में मदद दी। कांग्रेस आपको वोट मशीन समझती है ताकि वह उसके बाद शासन कर सके। इस दुष्प्रचार का शिकार न बनें। गडकरी ने कहा- हम सभी एक हैं, हमारी धरोहर एक है। आप मस्जिद जाते हैं, हम विरोध नहीं करते। हम सभी साथ रहेंगे और डॉ. बाबा साहेब अंबेडकर के संविधान के अनुसार काम करेंगे। यही बात तो हम कह रहे है, नया कुछ कहां कह रहे हैं।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

3 × two =

kishori-yojna
kishori-yojna
ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
वामपंथी छात्र जोशीमठ की जनता को भड़का रहे: भट्ट
वामपंथी छात्र जोशीमठ की जनता को भड़का रहे: भट्ट