सीएए पर मेघालय में हिंसा - Naya India
समाचार मुख्य| नया इंडिया|

सीएए पर मेघालय में हिंसा

शिलांग। संशोधित नागरिकता कानून, सीएए के विरोध और उसके समर्थन को लेकर शुरू हुई दिल्ली की सांप्रदायिक हिंसा अभी पूरी तरह से थमी भी नहीं है कि इसी मुद्दे पर पूर्वोत्तर में नए सिरे से हिंसा शुरू हो गई है। शुक्रवार की रात को मेघालय में दो समूहों के बीच झड़प हुई, जिसमें एक व्यक्ति की मौत हो गई है। इसके बाद कई इलाकों में कर्फ्यू लगा दिया गया है और इंटरनेट की सेवा बंद कर दी गई है। हिंसा की मजिस्ट्रेट से जांच के आदेश दिए गए हैं।

शुक्रवार की रात को मेघालय में सीएए और इनर लाइन परमिट, आईएलपी पर बैठक के दौरान खासी स्टूडेंट्स यूनियन, केएसयू कार्यकर्ताओं और गैर आदिवासियों के बीच झड़प हो गई, जिसमें एक व्यक्ति की मौत  हो गई। इसके बाद शिलांग शहर के कुछ इलाकों में शनिवार दोपहर को फिर से कर्फ्यू लगा दिया गया। अधिकारियों ने बताया कि शुक्रवार रात को झड़प के बाद कर्फ्यू लगा दिया गया था, जिसे शनिवार सुबह आठ बजे हटा लिया गया था। अधिकारियों ने बताया कि छह जिलों में मोबाइल इंटरनेट सेवा पर प्रतिबंध जारी है।

शिलांग के सदर पुलिस थाना और एक अन्य इलाके में शनिवार को दोपहर में फिर से कर्फ्यू लगा दिया गया। उन्होंने बताया कि संवेदनशील इलाकों में सशस्त्र पुलिस बल की अतिरिक्त कंपनियां तैनात की गई हैं। एक अधिकारी ने बताया कि राज्य में हालात नियंत्रण में हैं और स्थिति पर करीब से नजर रखी जा रही है। बांग्लादेश की सीमा से सटे ईस्ट खासी हिल्स जिले के इचामति इलाके में शुक्रवार को सीएए के विरोध में और आईएलपी के समर्थन में एक बैठक के दौरान खासी स्टूडेंट्स यूनियन, केएसयू के कार्यकर्ताओं और गैर आदिवासियों के बीच झड़प हो गई थी।

उन्होंने बताया कि छह जिलों- ईस्ट जयंतिया हिल्स, वेस्ट जयंतिया हिल्स, ईस्ट खासी हिल्स, री भोई, वेस्ट खासी हिल्स और साऊथ वेस्ट खासी हिल्स में शुक्रवार रात से 48 घंटों के लिए मोबाइल इंटरनेट सेवाएं बंद कर दी गईं। अधिकारियों ने बताया कि एसएमएस सेवा को सीमित कर पांच एसएमएस रोजाना कर दिया गया है। अधिकारियों ने बताया कि शुक्रवार को इचामति में रैली पर हमले के संबंध में पुलिस ने छह लोगों को गिरफ्तार किया है, जिसमें आईएलपी समर्थक एक कार्यकर्ता की मौत हो गई।

इस बीच मेघालय के राज्यपाल तथागत रॉय ने लोगों से शांति बनाए रखने और अफवाहों पर ध्यान नहीं देने की अपील की है। राज्यपाल ने एक बयान में कहा- मैं मेघालय में सभी नागरिकों, आदिवासियों या गैर आदिवासियों से शांत रहने की अपील करता हूं। अफवाहें नहीं फैलाएं और उन पर ध्यान नहीं दें। मुख्यमंत्री ने मुझसे बात की है। उन्होंने मुझे आवश्यक कदम उठाने का आश्वासन दिया है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *