बिहार में दस लाख लोग बाढ़ में घिरे - Naya India
समाचार मुख्य| नया इंडिया|

बिहार में दस लाख लोग बाढ़ में घिरे

पटना । बिहार में कोरोना संकट के बीच बाढ़ का संकट भी आ गया है। राज्य के कम से कम दस जिले बाढ़ की चपेट में है और दस लाख से ज्यादा लोग बाढ़ में घिरे हैं। राज्य में गंडक, बागमती और अधवारा नदियों में उफान के चलते कई जगह बांध टूट गई है, जिससे दस जिलों में कम से कम दस लाख लोग बाढ़ की चपेट में हैं। पूर्वी चंपारण, पश्चिम चंपारण, गोपालगंज, सारण सहित कई इलाकों में बांध टूटने से पानी गांवों में घुसा हुआ है।

शनिवार को गोपालगंज जिले के बैकुंठपुर इलाके में सारण बांध दो जगह से टूट गया। इससे सारण जिले के तरैया, मशरख और पानापुर में बाढ़ का खतरा बढ़ गया है। गोपालगंज के बैकुंठपुर में दो जगह जमींदारी बांध टूटा है। इससे पहले शुक्रवार को गोपालगंज में गंडक नदी पर बना सारण बांध टूट गया था। यह बात दोनों तरफ टूटा, जिसकी वजह से एक तरफ चंपारण में और दूसरी ओर गोपालगंज में कई गांवों में बाढ़ का पानी घुस गया।

बाढ़ में फंसे लोगों तक खाना पहुंचाने के लिए वायु सेना की मदद ली गई है। वायु सेना के तीन हेलीकॉप्टर बाढ़ पीड़ितों के बीच खाना गिरा रहे हैं। दो हेलीकॉप्टर दरभंगा से दरभंगा और मोतिहारी के बीच राहत कार्य चला रहे हैं। एक हेलीकॉप्टर पटना से गोपालगंज में राहत सामग्री पहुंचा रहा है। लगातार हो रही बारिश और जिले में बहने वाली कई नदियों के जलस्तर में बढ़ोतरी से जिले में बाढ़ की स्थिति गंभीर बनती जा रही है।

दरभंगा समस्तीपुर रेलखंड पर हायाघाट और थलवाड़ा के बीच बने पुल के पास तक नदी का पानी पहुंच गया। इसके बाद इस रेलखंड पर ट्रेनों की आवाजाही अगले आदेश तक रोक दी गई है। बरौली के देवापुर में सारण मुख्य बांध टूट गया है। जिले के पूर्वांचल में गंडक अपनी विनाशलीला दिखा रही है। एनडीआरएफ की अनेक टीम राहत व बचाव कार्य में जुटी हुई है। मोटरबोट और नावों से लोगों को बाहर निकालकर सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया जा रहा है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
पीएम मोदी को ऐलान! देश में हर साल 16 जनवरी को मनाया जाएगा ‘नेशनल स्टार्ट-अप डे’