कोरोना : चीन बेहाल, भारत मदद को तैयार

नई दिल्ली । प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग को पत्र लिखकर कोरोना वायरस के प्रकोप से निपटने में भारत की ओर से मदद की पेशकश की। आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि पत्र में, प्रधानमंत्री ने चीन में वायरस के प्रकोप के खिलाफ चीनी राष्ट्रपति और वहां के लोगों के साथ एकजुटता व्यक्त की।  चीनी अधिकारियों की तरफ से जारी नये डेटा के मुताबिक कोरोना वायरस के संक्रमण से अब तक 811 लोगों की मौत हुई है जबकि संक्रमण के मामलों की संख्या 37,198 पर पहुंच गई है।

सूत्रों ने बताया कि चिनफिंग को भेजे पत्र में मोदी ने इस चुनौती से निपटने के लिए चीन को भारत की ओर से मदद की पेशकश की और साथ ही इस वायरस से लोगों की मौत पर शोक जताया।  प्रधानमंत्री ने हुबेई प्रांत से करीब 650 भारतीयों को निकालने में मदद देने के लिए चिनफिंग के प्रति आभार भी जताया। चीन के राजदूत स्वन वेइतोंग ने बुधवार को कहा था कि संचार और समन्वय को मजबूत करने और चीन में भारतीय नागरिकों के स्वास्थ्य की सुरक्षा के लिए भारत के साथ काम करने को तैयार है। उल्लेखनीय है कि चीन से शुरू हुए कोरोना वायरस के प्रकोप ने दुनियाभर में 37,500 से अधिक लोगों को अपनी चपेट में लिया है। वैश्विक स्वास्थ्य अधिकारियों की ओर से रविवार को दिए गए आंकड़ों के मुताबिक चीन में वायरस के चलते 811 मौतें हुईं हैं और 37,198 मामलों में संक्रमण की पुष्टि हुई है। इसके अलावा हांगकांग में एक व्यक्ति की मौत समेत 25 मामले सामने आए हैं। मकाओ में 10 मामलों की जानकारी मिली है। सबसे ज्यादा मौतें मध्य हुबेई प्रांत में हुई हैं जहां इस प्रकार के कोरोना वायरस से हो रही बीमारी का पिछले साल दिसंबर में सबसे पहले पता चला था।

दूसरी ओर को, नागर विमानन महानिदेशालय (डीजीसीए) ने कोरोना वायरस के खतरे को देखते हुए केरल के चारों हवाईअड्डों से अगले 15 दिनों तक उड़ानों से पहले चालक दल के सदस्यों के लिए ब्रेथालाइजर जांच बंद कर दी है। ब्रेथालाइजर जांच से यह पता चलता है कि किसी व्यक्ति ने शराब पी है, या नहीं।

डीजीसीए के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, “कोरोना वायरस की स्थिति को देखते हुए अगले 15 दिन तक केरल के हवाईअड्डों से जाने वाले विमानों के चालक दल के सदस्यों की अनिवार्य ब्रेथालाइजर जांच नहीं की जाएगी।” हालांकि, उन्होंने कहा कि केरल के चार हवाई अड्डों- कालीकट, कन्नूर, तिरुवनंतपुरम और कोचीन से उड़ान भरने वाले विमानों के चालक दल के सदस्यों की ब्रेथालाइजर जांच गंतव्य स्थल पर उतरने पर किया जाएगा। डीजीसीए ने शनिवार को कहा था कि 15 जनवरी या उसके बाद चीन की यात्रा करने वाले विदेशियों को भारत में प्रवेश की अनुमति नहीं दी जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Shares