nayaindia अंतिम सांसें गिन रही है कांग्रेस: मोदी - Naya India
समाचार मुख्य| नया इंडिया|

अंतिम सांसें गिन रही है कांग्रेस: मोदी

अकोला/जालना (महाराष्ट्र)। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कांग्रेस मुक्त भारत बनाने का ऐलान किया था, बुधवार को उन्होंने दावा किया कि कांग्रेस आखिरी सांसें गिन रही है। कांग्रेस पर हमला करते हुए बुधवार को प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि एक परिवार के प्रति समर्पण  में ही उसे राष्ट्रवाद नजर आता है। प्रधानमंत्री मोदी ने विनायक दामोदर सावरकर के नाम पर भी वोट मांगा। इससे एक दिन पहले ही भाजपा ने अपने घोषणापत्र में कहा था कि महाराष्ट्र में दोबारा उसकी सरकार बनी तो वह सावरकर को भारत रत्न देने की मांग करेगी।

प्रधानमंत्री मोदी ने बुधवार को भाजपा की चुनावी रैली में कहा कि हिंदुत्व विचारक विनायक दामोदर सावरकर के संस्कार राष्ट्र निर्माण का आधार हैं। इसके साथ ही उन्होंने अफसोस जताया कि बाबा साहेब आंबेडकर को दशकों तक भारत रत्न से वंचित रखा गया। उन्होंने कहा- यह सावरकर के संस्कार ही हैं कि हमने राष्ट्रवाद को राष्ट्र निर्माण के मूल में रखा है।

महाराष्ट्र में अगले हफ्ते होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए प्रधानमंत्री मोदी ने बुधवार को अकोला और जालना में रैलियों को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि कांग्रेस वह पार्टी नहीं रह गई, जिसने आजादी की लड़ाई लड़ी थी। मोदी ने कहा कि उन्होंने पढ़ा कि कांग्रेस अपने कार्यकर्ताओं को राष्ट्रवाद का पाठ पढ़ाएगी। उन्होंने कहा- मुझे नहीं पता कि इस पर हंसना चाहिए या रोना। यह साबित करता है कि आज की कांग्रेस वह नहीं है जो आजादी के लिए लड़ी थी।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि महाराष्ट्र बहादुरों की भूमि रही है और ऐसे नेता थे जिन्होंने देश को दिशा दिखायी। उन्होंने कहा- महाराष्ट्र में राष्ट्रवाद और देशभक्ति की भावनाएं काफी हैं। दुर्भाग्य से, कांग्रेस और एनसीपी के नेताओं ने इन मूल्यों को भुला दिया। अनुच्छेद 370 हटाने के सरकार के फैसले का विरोध करने को लेकर उन्होंने कांग्रेस और एनसीपी पर हमला किया। उन्होंने कहा- मैं कांग्रेस और एनसीपी के नेताओं से कहना चाहता हूं कि वे उस स्थान पर चादर डाल सकते हैं जहां अनुच्छेद 370 को दफनाया गया है।

मोदी की रैली के लिए पेड़ कटे

मुंबई में मेट्रो रेल की शेड के लिए आरे के जंगलों के पेड़ काटे को लेकर चल रहे विवाद के बीच एक नया विवाद खड़ा हो गया है। पुणे में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की रैली के लिए पेड़ काटे जाने का विपक्षी पार्टियों और सामाजिक कार्यकर्ताओं ने विरोध किया है। पर भाजपा ने इसका बचाव किया है और कहा है कि पहले भी राजनीतिक रैलियों के लिए पेड़ काटे जाते रहे हैं, इसमें कोई बड़ी बात नहीं है।

केंद्रीय वन व पर्यावरण मंत्री प्रकाश जावडेकर ने रैली के लिए पेड़ काटे जाने का बचाव करते हुए बुधवार को कहा कि ऐसा पहले भी हो चुका है लेकिन उससे अधिक पौधे भी लगाए गए थे। इससे पहले जब विपक्षी पार्टियों ने आरोप लगाया कि 17 अक्टूबर को होने वाली मोदी की रैली के लिए पुणे शहर के सर परशुराम कॉलेज परिसर में कुछ पेड़ों को काटा गया है। मोदी की रैली कॉलेज के मैदान में होनी है।

इसे लेकर जावडेकर ने कहा- हर बार जब हम पेड़ काटते हैं, तो हम पहले से ज्यादा पौधे लगाते हैं। यह वन विभाग का नियम है।  उन्होंने सवालिया लहजे में कहा- और मोदी की रैली के लिए पेड़ों को काटे जाने पर इतना बवाल क्यों? पहले भी प्रधानमंत्रियों और दूसरे नेताओं की रैलियों के लिए पेड़ काटे जा चुके हैं। मुझे हैरानी है कि पहले इस तरह की कोई जागरुकता क्यों नहीं थी।

Leave a comment

Your email address will not be published.

1 × five =

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
राज्यसभा में घटेगी भाजपा की सीट!
राज्यसभा में घटेगी भाजपा की सीट!