मोदी-शाह की ठान लेने की आदत से अब जनता दुखी   - Naya India
समाचार मुख्य | विविध समाचार | उड़ती -उड़ती खबरें| नया इंडिया|

मोदी-शाह की ठान लेने की आदत से अब जनता दुखी  

PM Modi Cabinet Expansion

जो कुछ करने की ठान लेता है तो वह करके रहता है। दुनिया की कोई ताकत उसको नहीं रोक सकती। इतिहास में और वर्तमान में भी ऐसे कई उदाहरण है, जिनमें किसी ने कुछ ठाना और फिर वह काम किया। यह जिद कई मामलों में अच्छी है, लेकिन ज्यादातर मामलों में इससे नुकसान ही ज्यादा होता है।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह की कुछ न कुछ ठान लेने और उसे पूरा कर दिखाने की आदत अब फायदा कम नुकसान ज्यादा करने लगी है। नोटबंदी से अर्थव्यवस्था की कमर टूट गई और सीएए-एनसीआर से सामाजिक सद्भाव की कमर टूट रही है। मोदी और शाह ने भाजपा को जिताने की ठानी, ठीक किया, जनता भी कांग्रेस की घिसी-पिटी सरकार से बोर हो गई थी। मोदी जीत गए। अब मोदी क्या कर रहे हैं? वे कभी भी चुप रहकर सोच-विचार करते नहीं दिखे। वे कभी भी बैठक करके आम सहमति से फैसले करते हुए भी नहीं दिखे। उन्होंने अपने फैसले देश पर थोप दिए हैं और अब जनता दुखी है।

अब मोदी सिर्फ शब्दों की फिजूलखर्ची करते हुए अपने राजनीतिक अस्तित्व को बचाने का प्रयास कर रहे हैं। अर्थ व्यवस्था का बैंड बज रहा है। दिल्ली में जबरन दंगे हो गए। अब पश्चिम बंगाल पर निगाहें हैं। और प्रधानमंत्री मोदी कोरोना वायरस का प्रचार होने के बाद होली नहीं मनाने की घोषणा कर रहे हैं। हिंदुत्व की रक्षा इसी तरह की जाएगी।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
दिल्ली में लावारिस बैग में मिला बम
दिल्ली में लावारिस बैग में मिला बम