हैदराबाद : महिला अधिकारी को जिंदा जलाया गया

हैदराबाद। एक चौंका देने वाली घटना सामने आई है, जिसमें तेलंगाना सरकार की एक महिला अधिकारी को हैदराबाद शहर से बाहर दूरवर्ती इलाके में जिंदा जला दिया गया।

यह घटना मंगलवार की है, जिसमें महिला को मरने से बचाने के चलते उनका ड्राइवर भी घायल हो गया है। महिला अधिकारी को बचाने के प्रयास में गुरुनाथम के शरीर का 80 प्रतिशत हिस्सा जल गया था और उसने यहां के अपोलो डीआरडीओ में अपना दम तोड़ दिया। सोमवार को हुए एक भूमि विवाद के चलते अब्दुल्लापुरमेट की तहसीलदार विजया रेड्डी (37) को उनके कार्यालय में ही एक आदमी ने जिंदा जला डाला। महिला अधिकारी को बचाने के प्रयास में गुरुनाथम के साथ-साथ एक अन्य कर्मचारी चंद्रेया भी झुलस गया।

दोनों को अपोलो डीआरडीओ में भर्ती कराया गया था। महिला अधिकारी पर पेट्रोल डालकर इस घटना को अंजाम देने वाले शख्स का नाम के.सुरेश है, उसके भी शरीर का 60 प्रतिशत हिस्सा जल गया है। सरकार द्वारा संचालित उस्मानिया अस्पताल में उसका उपचार चल रहा है। पुलिस संदेह जता रही है कि आग की लपटों से एसी डक्ट में विस्फोट हुआ है और इसी से सुरेश और दो अन्य घायल हो गए हैं। पुलिस के मुताबिक, खेती के अलावा सुरेश एक रियल-स्टेट बिजनेसमैन भी है, बचाराम गांव में उसके भाई की सात एकड़ की जमीन थी जो कानूनी पचड़े में फंस गई थी।

इसे भी पढ़ें : बेटियों ने दिया पिता के जनाजे को कंधा

इधर, सुरेश के परिवारवालों को इस बात की कोई खबर ही नहीं है कि आखिर वह तहसीलदार के कार्यालय में क्यों गया और इस हादसे को अंजाम क्यों दिया, क्योंकि वह इस भूमि विवाद में किसी भी तरह से शामिल नहीं था। इस बीच, रेड्डी का अंतिम संस्कार इसी दिन नागोले में किया जाएगा। राजनेताओं और सरकारी अधिकारियों ने उन्हें अपनी आखिरी श्रद्धांजलि अर्पित की। राजस्व विभाग के कर्मचारियों ने घटना की निंदा करते हुए और कर्मचारियों के लिए सुरक्षा की मांग करते हुए राज्य में विभिन्न स्थानों पर विरोध प्रदर्शन किया।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Shares