समाचार मुख्य

पावर ग्रिड की चिंताओं का ध्यान रखा जाना चाहिए : प्रियंका

नई दिल्ली। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने आज कहा कि पावर ग्रिड की चिंताओं का ध्यान रखा जाना चाहिए, ताकि बिजली आपूर्ति में कोई बाधा न हो।

प्रियंका का यह बयान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा लोगों से अपील की उस अपील के एक दिन बाद आया है, जिसमें उन्होंने देशवासियों से कहा था कि वे कल रात नौ बजे नौ मिनट के लिए अपने घरों की लाइट बंद कर दें और दीया या मोमबत्ती जलाएं।

पूर्वी उत्तर प्रदेश की पार्टी प्रभारी प्रियंका गांधी ने एक ट्वीट में कहा, जब देश कोरोना के खिलाफ युद्ध में एकजुटता का इजहार कर रहा है, आशा है कि केंद्र सरकार द्वारा पावर ग्रिडस एवं इंजीनियरों की चिंताओं का भी ध्यान रखा जा रहा है, ताकि संकटकाल में और जरूरत के समय बिजली आपूर्ति में कोई बाधा न हो।

उन्होंने अपने ट्वीट के साथ एक समाचार रिपोर्ट भी संलग्न की, जिसमें कहा गया है कि देश भर में एक ही समय में लाइट बंद करने से पावर ग्रिड फेल हो सकता है और ब्लैकआउट की संभावना पैदा हो सकती है।

इसे भी पढ़ें :- कोरोना वायरस की बड़े पैमाने पर जांच हो : प्रियंका

उनकी पार्टी के नेता और महाराष्ट्र के ऊर्जा मंत्री नितिन राउत ने कल एक बयान में आशंका व्यक्त की कि नौ मिनट के लिए एक साथ रोशनी बंद करने से बहु-राज्य ग्रिड का पतन हो सकता है और इसके परिणामस्वरूप पूरे देश में ब्लैकआउट हो सकता है। अपने बयान में राउत ने लोगों से अपील की कि इस स्थिति से बचने के लिए पांच अप्रैल को दीपक और मोमबत्तियों को प्रज्वलित करते समय घर पर आवश्यक रोशनी रखें।

राउत ने कहा, एक समय में बिजली बंद करने से बिजली की मांग कम हो सकती है। अगर नौ मिनट के लिए एक बार में सभी लाइट बंद हो जाती हैं, तो पूरे देश में ब्लैकआउट के परिणामस्वरूप ग्रिड के ढहने की संभावना होती है। लॉकडाउन के कारण मांग और आपूर्ति की स्थिति में बदलाव होता है। अगर ग्रिड में मांग या आपूर्ति में अचानक गिरावट या वृद्धि होती है तो ग्रिड आवृत्ति (बारंबार होना) में गड़बड़ी हो सकती है।

Latest News

आसाराम बाबा….अब तो जेल में जाना ही पड़ेगा
जोधपुर |  आसाराम बाबा कुछ महीनों पहले कोरोना संक्रमित हो गया था। जिसके बाद उसके स्वास्थ्य में उतार-चढ़ाव देखा जा रहा है।…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

कोविड-19 अपडेटस | ताजा पोस्ट | देश

स्वास्थ्य मंत्रालय सचिव राजेश के भूषण ने कहा-डरें नहीं , डेल्टा वैरिएंट के लिए भी प्रभावी है Covaxine और Covishild

covaxine and covishild are impressive in delta varient

नई दिल्ली | भारत में अब कोरोना के नये मामलों में लगातार कमी देखी जा रही है. यही कारण है कि देश में वैक्सीनेशन की प्रक्रिया पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है. इधर डेल्टा वैरिएंट के सामने आने से भी देश के लोगों में असंजस की स्थिति बनी हुई है. बता दें कि कोरोना वायरस का डेल्टा वैरिएंट 80 देशों में पाया गया है, जिसमें भारत भी शामिल है. इस संबंध में बात करते हुए स्वास्थ्य मंत्रालय के सचिव राजेश भूषण ने कहा कि देश में अब तक डेल्टा वायरस के 22 केस मिल चुके हैं. उन्होंने कहा कि भारत में लगाए जा रहे दोनों भारतीय टीके Covishield और Covaxin डेल्टा वैरिएंट के खिलाफ प्रभावी हैं. हालांकि उन्होंने कहा अभी ये जानकारी नहीं है कि ये टीके किस हद तक प्रभावी हैं.

covaxine and covishild are impressive in delta varient

डेल्टा प्लस वैरिएंट के 22 में से 16 मामले महाराष्ट्र से

राजेश भूषण ने कहा कि देश में डेल्टा प्लस वैरिएंट से बचने की जरूरत है . उन्होंने कहा कि वैक्सीनेशन ही इससे बचने का उपाय हो सकता है. उन्होंने कहा कि अब तक मिली जानकारी के अनुसार देश के 22 में से 16 मामले महाराष्ट्र के रत्नागिरी और जलगांव में पाये गये हैं. इसके साथ ही कुछ मामले केरल और मध्यप्रदेश में पाये गये हैं. उन्होंने कहा कि 15 जून से 21 जून के बीच देश के 552 जिलों में पॉजिटिविटी रेट पांच प्रतिशत से कम हो गयी है.

इसे भी पढें-  क्या होगा जब बिगबॉस 15 में रिया चक्रवती और अंकिता लोखंडे का होगा सामना..जाननें के लिए पढ़ें पूरी खबर

ऐतिहासिक टीकाकरण के लिए दी देशवासियों को बधाई

21 जून से शुरू किये गये ऐतिहासिक टीकाकरण अभियान में देश के लोगों के जुड़ने के लिए उन्होंने बधाई दी., उन्होंने कहा कि यह बहुत बड़ी बात है कि हमने एक दिन में रिकॉर्ड 88.09 लाख लोगों को वैक्सीन लगवाया. इत दौरान मध्यप्रदेश में 17 लाख (सबसे अधिक) लोगों का टीकाकरण लगाया गया. दूसरे नंबर पर कर्नाटक में 11 लाख लोगों को कोरोना का टीका दिया गया. हालांकि उन्होंने कहा कि देश में अभी भी महिलाओं को टीका लगवाने के लिए आगे आने की जरूरत है.

इसे भी पढें- BJP से जुड़ने का सर मुंडवा कर किया प्रायश्चित फिर गंगाजल से शुद्धि के बाद TMC में शामिल हुए 200 कार्यकर्ता

Latest News

aaआसाराम बाबा….अब तो जेल में जाना ही पड़ेगा
जोधपुर |  आसाराम बाबा कुछ महीनों पहले कोरोना संक्रमित हो गया था। जिसके बाद उसके स्वास्थ्य में उतार-चढ़ाव देखा जा रहा है।…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *