nayaindia ऑक्सीजन के औद्योगिक इस्तेमाल पर रोक - Naya India
समाचार मुख्य| नया इंडिया|

ऑक्सीजन के औद्योगिक इस्तेमाल पर रोक

modi-government

नई दिल्ली। देश में बढ़ते ऑक्सीजन संकट से निपटने के लिए सरकार ने देर से ही सही पर कुछ बड़े कदम उठाए हैं। केंद्र सरकार ने राज्यों को निर्देश भेजा है कि लिक्विड ऑक्सीजन का इस्तेमाल मरीजों के अलावा किसी और काम में नहीं किया जाएगा। इस तरह सरकार ने लिक्विड ऑक्सीजन के औद्योगिक इस्तेमाल पर पाबंदी लगा दी है। ऑक्सीजन की कमी पर सुनवाई करते हुए दिल्ली हाई कोर्ट ने पिछले हफ्ते कई बार कहा था कि सरकार तत्काल सभी उद्योगों को मिलने वाली ऑक्सीजन की आपूर्ति बंद कराए। बहरहाल, केंद्र ने कहा है कि लिक्विड ऑक्सीजन का पूरा स्टॉक सिर्फ सिर्फ चिकित्सा कार्यों में इस्तेमाल होगा।

इस बीच केंद्र सरकार ने एक और बड़ा कदम उठाने का ऐलान किया है। कोरोना वायरस का संक्रमण शुरू होने के बाद बनाए गए पीएम केयर्स फंड से देश के पांच सौ से ज्यादा जिलों में ऑक्सीजन प्लांट लगाने की घोषणा की गई है। रविवार को बताया गया कि पीएम केयर्स फंड से देश के विभिन्न राज्यों के स्वास्थ्य केंद्रों में 551 मेडिकल ऑक्सीजन उत्पादन संयंत्रों की स्थापना की जाएगी।

प्रधानमंत्री कार्यालय ने एक बयान में रविवार को कहा कि पीएम केयर्स फंड ने इन संयंत्रों की स्थापना के लिए सैद्धांतिक मंजूरी दी है। इसके साथ ही प्रधानमंत्री ने इन संयंत्रों को जल्दी से जल्दी लगाने और उत्पादन शुरू करने का निर्देश दिया है। बयान में कहा गया कि इन संयंत्रों से जिला स्तर पर ऑक्सीजन की उपलब्धता बढ़ेगी। इन संयंत्रों की स्थापना विभिन्न राज्यों व केंद्र शासित प्रदेशों के जिला मुख्यालयों में चिन्हित अस्पतालों में की जाएगी और केंद्रीय स्वास्थ्य व परिवार कल्याण मंत्रालय यह काम करेगा।

पीएम केयर्स फंड से इससे पहले से देश के विभिन्न राज्यों के स्वास्थ्य केंद्रों में 162 पीएसए मेडिकल ऑक्सीजन उत्पादन संयंत्रों की स्थापना के लिए 201.58 करोड़ रुपए आवंटित किए गए थे। ताजा मंजूरी के साथ ही देश भर के सभी जिला मुख्यालयों में जहां-जहां सरकारी अस्पताल हैं, उनमें अब ऑक्सीजन संयंत्र स्थापित किए जाएंगे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पीएमओ का बयान साझा करते हुए ट्विट किया- पर्याप्त ऑक्सीजन उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिए देश के हर जिले में ऑक्सीजन संयंत्र, एक महत्वपूर्ण निर्णय जो अस्पतालों में ऑक्सीजन की उपलब्धता को मजबूती देगा और देश भर के लोगों की मदद करेगा।

Leave a comment

Your email address will not be published.

ten − 7 =

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
उत्तराखंड: बारातियों से भरी बस खाई में गिरी, अब तक 25 लोगों की मौत
उत्तराखंड: बारातियों से भरी बस खाई में गिरी, अब तक 25 लोगों की मौत