nayaindia अमेरिका ने ईरानी जनरल को मार डाला! - Naya India
समाचार मुख्य| नया इंडिया|

अमेरिका ने ईरानी जनरल को मार डाला!

वाशिंगटन। अमेरिका ने एक अभूतपूर्व घटनाक्रम में अमेरिका ने ईरान के रिवोल्यूशनरी गार्ड्स के बेहद शक्तिशाली कमांडर जनरल कासिम सुलेमानी को मार डाला। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के आदेश पर अमेरिका ने सैन्य कार्रवाई में कासिम सुलेमानी को मार गिराया। सुलेमानी को ईरान के राष्ट्रपति रूहानी से भी ज्यादा लोकप्रिय माना जाता है। उनके मारे जाने पर ईरान ने बदला लेने की चेतावनी दी है। इस घटना के बाद पूरे खाड़ी क्षेत्र में तनाव बढ़ गया है। कई अमेरिकी सांसदों ने भी इसकी निंदा की है और चिंता भी जताई है।

जनरल सुलेमानी ईरान के अल कुद्स फोर्स के प्रमुख थे और उनको इसके क्षेत्रीय सुरक्षा हथियारों के जनक के तौर पर जाना जाता था। उन्हें शुक्रवार तीन जनवरी को बगदाद के अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे पर अमेरिकी हवाई हमले में मारा गया। हमले में इराक के शक्तिशाली हशद अल शाबी अर्द्धसैनिक बल का उपप्रमुख भी मारा गया। अमेरिकी रक्षा विभाग पेंटागन ने इराक में सुलेमानी की मौत की पुष्टि की है और कहा कि यह हमला ट्रंप के निर्देश पर किया गया था।

पेंटागन ने कहा- विदेश में अमेरिकी कर्मियों की सुरक्षा के लिए स्पष्ट रक्षात्मक कार्रवाई करते हुए अमेरिकी सेना ने राष्ट्रपति के निर्देश पर ईरानी रिवोल्यूशनरी गार्ड्स कोर कुद्स फोर्स के प्रमुख कासिम सुलेमानी को मार गिराया। इस संगठन को अमेरिका ने प्रतिबंधित विदेशी आतंकवादी संगठन की सूची में डाल रखा है। सुलेमानी की मौत के बाद राष्ट्रपति ट्रंप ने अमेरिकी झंडे की तस्वीर ट्विट करने के अलावा तुरंत कोई टिप्पणी नहीं की। ट्रंप फिलहाल फ्लोरिडा में छुट्टी मना रहे हैं।

इस हमले से कुछ दिन पहले कट्टर हशद गुट पर अमेरिका के भीषण हवाई हमले के बाद ईरान में सरकार समर्थित बल के इराकी समर्थकों ने बगदाद में अमेरिकी दूतावास की घेराबंदी की थी, जिसके बाद ट्रंप ने ईरान को नतीजे भुगतने की धमकी दी थी। पेंटागन ने आरोप लगाया कि इस हमले का मकसद भविष्य में ईरान की हमले की मंशा को रोकना था।

ईरान ने कहा, बदला लेंगे

अमेरिका के हवाई हमले में ईरानी और इराकी कमांडरों की मौत के बाद ईरान के राष्ट्रपति हसन रूहानी ने शुक्रवार को कहा कि ईरान और क्षेत्र के आजाद देश रिवोल्यूशनरी गार्ड्स के कमांडर कासिम सुलेमानी की हत्या का अमेरिका से बदला लेंगे। रूहानी ने ईरान सरकार की वेबसाइट पर पोस्ट किए गए एक बयान में कहा- इस बात में कोई शक नहीं है कि महान राष्ट्र ईरान और क्षेत्र के अन्य आजाद देश अपराधी अमेरिका के इस जघन्य अपराध का बदला लेंगे।

सुलेमानी की मौत पर प्रतिक्रिया देते हुए ईरान ने कहा कि देश और क्षेत्र के स्वतंत्र राष्ट्र अमेरिका से इसका बदला लेंगे। राष्ट्रपति हसन रुहानी ने पश्चिम एशिया में ईरान के सहयोगी देशों का हवाला देते हुए कहा- इसमें कोई शक नहीं है कि ईरान और क्षेत्र के अन्य तीन देश अपराधी अमेरिका से इस जघन्य अपराध का बदला लेंगे।

ईरान सरकार की वेबसाइट पर पोस्ट किए गए एक बयान में उन्होंने कहा- हमलावर और अपराधी अमेरिका द्वारा सुलेमानी की शहादत से ईरान सहित क्षेत्र के सभी देशों का दिल आहत है। उन्होंने कहा- उनकी मौत ने ईरान और अन्य स्वतंत्र देशों की अमेरिका की दादागिरी के खिलाफ खड़ा होने और इस्लामी मूल्यों की रक्षा के दृढ़संकल्प को दोगुना कर दिया है।

अमेरिका ने जारी किया परामर्श

ईरान के रिवोल्यूशनरी गार्ड्स के कमांडर हासिम सुलेमानी के अमेरिकी हमले में मारे जाने के बाद हालात बिगड़ने की आशंका को देखते हुए बगदाद में अमेरिकी दूतावास ने इराक में मौजूद अमेरिकी नागरिकों से शुक्रवार को जल्दी से जल्दी देश छोड़ने के लिए कहा है। दूतावास ने एक बयान में कहा है- संभव हो तो अमेरिकी नागरिक विमान के जरिए देश छोड़ कर चले जाएं, नहीं तो वे भूमार्ग से अन्य देशों से होते हुए भी जा सकते हैं।

गौरतलब है कि शुक्रवार तड़के बगदाद हवाईअड्डे के बाहर अमेरिका ने हमला किया और सुरक्षा सूत्रों ने बताया कि हमले की आशंका अब भी बनी हुई है। इस बीच अमेरिका ने अपनी विमानन कंपनियों के लिए अलग से एक निर्देश जारी किया है। अमेरिका की ओर से जारी इस निर्देश में कहा गया है कि अमेरिकी विमानन कंपनियां पाकिस्तान के एयरस्पेस का इस्तेमाल करने से बचें क्योंकि उधर उनके ऊपर हमले का अंदेशा है।

Leave a comment

Your email address will not be published.

20 − five =

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
नागपुर में सीरीज बचाने उतरेगी टीम इंडिया, मुकाबला होगा  रोमांचक
नागपुर में सीरीज बचाने उतरेगी टीम इंडिया, मुकाबला होगा रोमांचक