‘पुलवामा हमले से किसे हुआ फायदा’

नई दिल्ली । पुलवामा हमले की पहली बरसी के मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शहीदों को नमन किया। उन्होंने ट्वीट किया, पिछले साल पुलवामा हमले में शहीद हुए बहादुर जवानों को मेरी श्रद्धांजलि। वे असाधारण व्यक्ति थे, जिन्होंने हमारे राष्ट्र की सेवा और रक्षा के लिए अपना जीवन समर्पित कर दिया। भारत उनकी कुर्बानी को कभी नहीं भूलेगा। वहीं, राहुल गांधी ने भी शहीद सीआरपीएफ के जवानों को याद किया और इसके बाद सरकार की प्रगति को लेकर सवाल उठाए। दूसरी ओर, भाजपा ने पलटवार करते हुए कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष पर आतंकी संगठनों-लश्कर-ए-तैयबा, जैश-ए-मोहम्मद से ‘सहानुभूति रखने का’ आरोप लगाया।

कांग्रेस और माकपा ने इस हमले की जवाबदेही को लेकर सरकार से सवाल किया। इस पर भाजपा ने विपक्षी दलों पर निशाना साधते हुए कहा कि उनका बयान सीआरपीएफ के उन 40 शहीद जवानों का अपमान हैं जिन्होंने पिछले वर्ष देश के लिए अपनी जान न्योछावर की। राहुल गांधी ने शुक्रवार को पुलवामा हमले की बरसी पर शहीद जवानों को याद किया और सरकार पर निशाना साधते हुए सवाल किया कि ‘आज जब हम पुलवामा हमले में शहीद हुए 40 जवानों को याद कर रहे हैं तो हमें यह पूछना है कि इस हमले से सबसे ज्यादा फायदा किसको हुआ? उन्होंने पूछा, ‘हमले की जांच में क्या निकला? हमले से जुड़ी सुरक्षा खामी के लिए भाजपा सरकार में अब तक किसको जवाबदेह ठहराया गया है?’

दूसरी ओर, राहुल गांधी के बयान पर तत्काल पलटवार करते हुए केंद्र में सत्तारूढ़ भाजपा ने उनपर आतंकी संगठनों लश्कर-ए-तैयबा, जैश-ए-मोहम्मद से ‘सहानुभूति रखने का’ आरोप लगाया और कहा कि कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष का बयान उन शहीदों का अपमान हैं जिन्होंने देश के लिए अपनी जान न्योछावर की।

राहुल पर निशाना साधते हुए भाजपा ने कहा कि पुलवामा नृशंस आतंकी हमला था और गांधी परिवार फायदे के अलावा और कुछ सोच ही नहीं सकता। भाजपा प्रवक्ता जी वी एल नरसिम्हा राव ने अपने ट्वीट में आरोप लगाया, लश्कर-ए-तैयबा, जैश-ए-मोहम्मद से ‘सहानुभूति रखने वाले व्यक्ति माने जाने वाले’ राहुल गांधी ने न केवल सरकार पर बल्कि सुरक्षा बलों पर भी निशाना साधा। राहुल गांधी वास्तविक दोषी पाकिस्तान से कभी सवाल नहीं करेंगे। राहुल, आपको शर्म आनी चाहिए। भाजपा के एक अन्य प्रवक्ता सैयद शाहनवाज हुसैन ने अपने ट्वीट में कहा कि पुलवामा पर राहुल गांधी की टिप्पणियां उन शहीदों का अपमान हैं जिन्होंने देश के लिए अपनी जान न्योछावर की।

‘पुलवामा से किसे सबसे ज्यादा फायदा हुआ’ वाली टिप्पणी के लिए राहुल गांधी की आलोचना करते हुए हुसैन ने कहा कि ऐसी टिप्पणियों से पाकिस्तान को अंतरराष्ट्रीय मंचों पर भारत पर इल्ज़ाम लगाने में मदद मिलती है। भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने अपने ट्वीट में कहा. पुलवामा में हुआ हमला नृशंस आतंकी हमला था और यह (राहुल का) एक नृशंस बयान है कि किसको फायदा हुआ। पात्रा ने कहा, मिस्टर गांधी, क्या आप फायदे के आगे भी सोच सकते हैं? जाहिर तौर पर नहीं। भाजपा प्रवक्ता ने कहा कि यह तथाकथित गांधी परिवार फायदे के अलावा और कुछ सोच ही नहीं सकता । वे सिर्फ भौतिक रूप से ही भ्रष्ट नहीं हैं। उनकी आत्माएं भी भ्रष्ट हैं। गौरतलब है कि 14 फरवरी 2019 को जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में बड़ा आतंकी हमला हुआ था जिसमें सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए थे। पुलवामा आतंकी हमले के शहीदों को श्रद्धांजलि देते हुए माकपा महासचिव सीताराम येचुरी ने सवाल उठाया कि इन हमले में देश के लिये सर्वस्व न्योछावर करने वाले जवानों के परिवारों एवं घायलों के लिये क्या किया गया। उन्होंने कहा, मोदी और भाजपा ने पुलवामा शहीदों के नाम पर सीधा वोट मांगा। येचुरी ने कहा, आतंकी हमले के एक वर्ष गुजरने के बाद जांच रिपोर्ट कहां है ? इस हमले में इतने नुकसान और खुफिया विफलता के लिये किसे जिम्मेदार ठहराया गया। माकपा नेता मोहम्मद सलीम ने पूछा कि किस प्रकार से 80 किलोग्राम आरडीएक्स अंतरराष्ट्रीय सीमा पार कर आया। उन्होंने कहा कि हमें अक्षमता की याद दिलाने के लिये स्मारक की जरूरत नहीं है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Shares