समाचार मुख्य

सीएए नहीं लागू करने का राहुल का ऐलान

गुवाहाटी। कांग्रेस पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने रविवार को असम में अपनी पार्टी के चुनाव प्रचार अभियान की शुरुआत की। उन्होंने कांग्रेस की चुनावी सभा में ऐलान किया कि कांग्रेस पार्टी किसी हाल में नागरिकता संशोधन कानून यानी सीएए को लागू नहीं होने देगी। राहुल ने असम की चुनावी सभा में भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह को निशाना बनाते हुए क्रोनी पूंजीवाद को बढ़ावा देने का आरोप लगाया और ‘हम दो, हमारे दो’ का नारा दोहराया।

राहुल गांधी ने रविवार को शिवसागर जिले में कांग्रेस की चुनावी रैली को संबोधित किया, जिसमें वे कांग्रेस के दूसरे नेताओं के साथ ‘नो सीएए’ लिखा गमछा कंधे पर डाल रखा था। उन्होंने कहा- हमने यह गमछा पहना है, इस पर लिखा सीएए है। इस पर हमने क्रॉस लगा रखा है। मतलब चाहे कुछ भी हो जाए, सीएए नहीं होगा। राहुल ने मोदी-शाह पर तंज करते हुए कहा- हम दो, हमारे दो सुन लो, कुछ भी होगा पर यहां पर सीएए नहीं होगा।

सीएए को असम की स्थानीय संस्कृति पर हमला बताते हुए राहुल ने कहा- दुनिया में कोई ताकत नहीं है, जो असम को तोड़ सके। अगर किसी ने असम समझौते को छूने या नफरत फैलाने की कोशिश की तो कांग्रेस पार्टी और असम की जनता मिल कर उन्हें सबक सिखाएंगे। राहुल ने कहा- हम दो, हमारे दो और बाकी सब मर लो। हम दो, हमारे दो और जो असम को चला रहे हैं। असम में जो कुछ भी है, उसे लूट लो।

राहुल असम सरकार पर भी निशाना साधा। उन्होंने कहा कि रिमोट से टीवी चल सकता है, सीएम नहीं। राहुल ने लोगों को संबोधित करते हुए कहा- आपके मुख्यमंत्री तो केवल दिल्ली, गुजरात की बात सुनते हैं। असम में मुख्यमंत्री असम का ही होना चाहिए, जो असम के लोगों के लिए काम करे। मौजूदा सरकार को हटाना होगा, क्योंकि वो दिल्ली और गुजरात की ही बात सुनते हैं।

राहुल गांधी ने चाय बागान के मजदूरों पर भी बात की। उन्होंने कहा- असम में कांग्रेस की सरकार बनी तो हम युवाओं की घबराहट को दूर करेंगे। असम में रोजगार पैदा करेंगे। चाय मजदूरों को आज 167 रुपए दिहाड़ी दी जाती है। अगर कांग्रेस की सरकार बनी तो हम इसमें दो सौ रुपए जोड़ देंगे। हमारी सरकार के वक्त असम के चाय बागानों में मजदूरी करने वालों को 367 रुपए मिलेंगे।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *