• डाउनलोड ऐप
Thursday, May 6, 2021
No menu items!
spot_img

राहुल को अमेरिका से उम्मीद!

Must Read

नई दिल्ली। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने भारत में आजादी व लोकतंत्र खतरे में होने और संस्थाओं पर हमले को लेकर अमेरिका की चुप्पी पर सवाल उठाया और उससे उम्मीद भी जताई। विजन ऑन डेमोक्रेसी को लेकर एक ऑनलाइन चर्चा के दौरान अपने विचार साझा करते हुए राहुल कहा कि भारत में जो कुछ हो रहा है, उस पर अमेरिका ने चुप्पी साध रखी है। राहुल ने कहा- मैं इस बात में विश्वास करता हूं कि अमेरिका एक अर्थपूर्ण विचार है।

भारत में अमेरिका के राजदूत रहे निकोलस बर्न्स के राहुल गांधी ने शुक्रवार को एक ऑनलाइन बातचीत में हिस्सा लिया। बर्न्स फिलहाल हार्वर्ड केनेडी स्कूल के प्रोफेसर हैं। बर्न्स की बातचीत का विषय चीन और रूस की ओर से पेश किए जा रहे कठोर विचारों के खिलाफ लोकतंत्र के विचार था। इसी मसले पर बर्न्स से राहुल गांधी ने कहा- भारत में जो कुछ भी हो रहा है, उस पर यूएस की सत्ता से कुछ भी सुनने को नहीं मिलता है। उन्होंने आगे कहा- अगर आप लोकतंत्र की भागीदारी की बात कर रहे हैं तो जो देश में हो रहा है, उस पर आपके क्या विचार हैं? मैं इस बात में विश्वास करता हूं कि अमेरिका एक अर्थपूर्ण विचार है। यह वो आजादी है, जिस तरह से आपके संविधान में आजादी को जगह दी गई है, लेकिन आपको उस विचार की रक्षा करनी होगी।

चर्चा के दौरान राहुल ने यह भी आरोप लगाया कि भारत में सत्तारूढ़ पार्टी की तरफ से 2014 के बाद से संस्थागत ढांचे पर पूरी तरह कब्जा कर लिया गया है, जिसने विपक्षी पार्टियों के लिए सोच को पूरी तरह से बदल दिया है क्योंकि अब ये संस्थाएं, जिनका मकसद न्यायसंगत राजनीतिक लड़ाई को बढ़ावा देना है, अब ऐसा नहीं करती हैं। राहुल ने कहा- चुनाव लड़ने के लिए मुझे वो संस्थागत ढांचा चाहिए, ऐसी न्यायिक व्यवस्था चाहिए, जो मेरी रक्षा करता हो, ऐसी मीडिया चाहिए जो तार्किक स्तर तक स्वतंत्र हो, मुझे आर्थिक समानता चाहिए, मुझे ऐसा संस्थागत ढांचा चाहिए, जिससे मुझे एक राजनीतिक पार्टी की तरह काम करने में मदद मिले।

आरएसएस पर राहुल का निशाना

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने किसान नेता राकेश टिकैत की गाड़ी पर हमले के बहाने राष्ट्रीय स्वंयसेवक संघ को निशाना बनाया। उन्होंने शनिवार को आरोप लगाया कि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ, आरएसएस हमला करना सिखाता है। उन्होंने यह भी कहा कि सब मिल कर संघ का सामना करेंगे और तीनों कृषि विरोधी कानूनों को वापस कराके दम लेंगे।

राहुल ने ट्विट किया- उनका संघ हमला करना सिखाता है, अहिंसक सत्याग्रह किसान को निडर बनाता है। संघ का सामना संग मिल कर करेंगे, तीनों कृषि व देश विरोधी क़ानून वापस कराके ही दम लेंगे! गौरतलब है कि किसान नेता राकेश टिकैत की गाड़ियों के काफिले पर शुक्रवार को राजस्थान के अलवर जिले में कुछ लोगों ने कथित तौर पर पत्थर फेंके। घटना में टिकैत की कार का पिछला शीशा टूट गया। राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने इस हमले की निंदा करते हुए कहा है कि दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

 

- Advertisement -spot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest News

Odisha में कोरोना वायरस के रिकार्ड 10,521 नए मामले आए, कुल संक्रमितों की संख्या 5 लाख के पार

भुवनेश्वर | ओडिशा में आज कोरोना वायरस संक्रमण (Corona virus infection) के रिकार्ड 10,521 नये मामले सामने आने के...

More Articles Like This