nayaindia राहुल ने पूछा, असली मुद्दों का क्या हुआ? - Naya India
समाचार मुख्य| नया इंडिया|

राहुल ने पूछा, असली मुद्दों का क्या हुआ?

लातूर। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी भी रविवार को ही महाराष्ट्र के चुनाव प्रचार में उतरे। उन्होंने अपनी पहली सभा में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा नेताओं की ओर से उठाए जा रहे मुद्दों पर सवाल उठाया। उन्होंने कहा पार्टी और सरकार दोनों असली मुद्दों से लोगों का ध्यान भटका रहे हैं। उन्होंने कहा कि चांद तो ठीक है पर असली मुद्दों का क्या हुआ। उन्होंने मोदी से यह भी पूछा कि क्या उन्होंने चीन के राष्ट्रपति से डोकलाम के बारे में बात की।

राहुल ने अपनी रैली में मीडिया को भी निशाने पर लिया। उन्होंने आरोप लगाया कि प्रधानमंत्री मोदी, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और मीडिया मुख्य मुद्दों से लोगों का ध्यान भटका रहे हैं। महाराष्ट्र में लातूर जिले के औसा में एक चुनावी रैली में राहुल गांधी ने कहा कि जब युवा नौकरी मांगते है तो सरकार उन्हें  चांद देखने के लिए कहती है। उनका इशारा इसरो के हाल के चंद्रयान-दो की ओर था। राहुल ने कहा कि चांद पर जाने का सपना कोई दो साल में पूरा नहीं हुआ है, उसमें बरसों लगे हैं। इसके बाद उन्होंने कहा कि सरकार से रोजगार के बारे में पूछने पर वह चांद की बात करने लगती है।

राहुल गांधी ने सवालिया लहजे में कहा कि चीनी राष्ट्रपति शी जिनफिंग के साथ हाल में हुई बैठक के दौरान मोदी ने क्या उनसे 2017 के डोकलाम गतिरोध के बारे में पूछा। गौरतलब है कि 2017 में डोकलाम में भारतीय क्षेत्र में चीनी सैनिकों ने घुसपैठ की थी और कई दिन तक दोनों देशों की सेना आमने सामने डटी हई थी।

कांग्रेस नेता ने यह भी आरोप लगाया कि मोदी सरकार ने देश के 15 अमीर लोगों का साढ़े पांच लाख करोड़ रुपए का कर्ज माफ किया। गौरतलब है कि राहुल पहले भी मोदी सरकार पर अमीरों के लिए काम करने का आरोप लगा चुके हैं। उन्हें उन्हीं आरोपों को दोहराया। हाल ही में सरकार ने कारपोरेट टैक्स कम करके देश की कंपनियों को डेढ़ लाख करोड़ रुपए की राहत दी है।

राहुल गांधी ने आरोप लगाते हुए कहा- मीडिया, मोदी और शाह का काम मुख्य मुद्दों से लोगों का ध्यान भटकाना है। किसानों के संकट और नौकरियों की कमी पर मीडिया चुप है। मीडिया अमीर लोगों की कर्ज माफी पर भी चुप्पी साधे है।  उन्होंने कहा कि नोटबंदी और वस्तु व सेवा कर, जीएसटी का उद्देश्य गरीबों की जेबों से पैसा निकाल कर अमीरों को देना था। उन्होंने कहा- जब युवा नौकरियां मांगते है तो सरकार उन्हें चांद देखने के लिए कहती है। सरकार अनुच्छेद 370, चांद की बात करती है लेकिन देश की समस्याओं पर चुप है।

Leave a comment

Your email address will not be published.

sixteen − thirteen =

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
मौद्रिक उपाय पर सवाल
मौद्रिक उपाय पर सवाल