अयोध्या में आज जय श्रीराम

अयोध्या। भगवान राम की जन्मभूमि अयोध्या के लिए बुधवार का दिन ऐतिहासिक होने जा रहा है। बुधवार को ठीक साढ़े 12 बजे अभिजीत मुहूर्त में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भव्य राममंदिर का शिलान्यास करेंगे और इसके साथ ही दशकों, सदियों से चल रहे विवाद का एक अध्याय खत्म हो जाएगा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बुधवार को अयोध्या पहुंचेंगे और करीब तीन घंटे तक यहां रहेंगे। इस दौरान वे सबसे पहले हनुमानगढ़ी जाएंगे। उसके बाद भूमिपूजन और शिलान्यास के कार्यक्रम में हिस्सा लेंगे।

शिलान्यास कार्यक्रम के लिए बनाए गए मंच पर प्रधानमंत्री मोदी के साथ चार और लोग रहेंगे, जिनमें राष्ट्रीय स्वंयसेवक संघ के प्रमुख मोहन भागवत भी शामिल हैं। मोहन भागवत शिलान्यास कार्यक्रम में हिस्सा लेने के लिए अयोध्या पहुंच गए हैं। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी मंगलवार की शाम को अयोध्या पहुंच गए। बहरहाल, प्रधानमंत्री के अयोध्या पहुंचने से एक दिन पहले मंगलवार को ही एसपीजी ने सुरक्षा संभाल ली है। पूरे शहर को एक तरह से छावनी में बदला गया है और कोराना वायरस के संकट को देखते हुए आसपास के सारे मंदिरों और सड़कों को सैनिटाइज किया जा रहा है। शहर की सीमाओं को सील कर दिया गया है और पांच अगस्त तक बाहरी लोगों के प्रवेश पर रोक लगा दी गई है। स्थानीय लोगों को भी पहचान पत्र साथ में रखने को कहा गया है।

इस बीच अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए चल रहे तीन दिन के अनुष्ठान में दूसरे दिन मंगलवार को राम जन्मभूमि में रामार्चा पूजा हुई। काशी और अयोध्या के नौ वेदाचार्यों ने मंत्रोच्चार के साथ पूजा कराई। यह छह घंटे चली। यजमान के रूप में अशोक सिंघल के करीबी महेश बालचंदानी और उनकी पत्नी सुनीता बालचंदानी मौजूद रहीं। बुधवार को होने वाले भूमि पूजन कार्यक्रम में यजमान की भूमिका विश्व हिंदू परिषद के प्रमुख रहे अशोक सिंघल के बेटे सलिल सिंघल होंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Shares