सरकार की योजना बैंकिंग की बर्बादी: कांग्रेस - Naya India
समाचार मुख्य| नया इंडिया|

सरकार की योजना बैंकिंग की बर्बादी: कांग्रेस

नई दिल्लीकांग्रेस ने रिजर्व बैंक की अंतरिम कार्य समूह की सिफारिश के तहत कारपोरेट घरानों को बैंक खोलने की अनुमति देने को घातक बताते हुए कहा है कि इससे जनता की गाढ़ी कमाई पर पूंजीपतियों का कब्जा हो जाएगा।

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी. चिदंबरम तथा संचार विभाग के प्रमुख रणदीप सिंह सुरजेवाला ने मंगलवार को यहां संवाददाता सम्मेलन में कहा कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की सरकार रिजर्व बैंक के इंटर्नल वर्किंग ग्रुप की बड़े धन्ना सेठों और चुनिंदा उद्योगपतियों को बैंक खोलनेे की अनुमति देने का रिजर्व बैंक के पूर्व गवर्नर डॉ. रघुराम राजन और डॉ. विरल आचार्य ने भी कड़ा विरोध किया है।

उन्होंने कहा, “कांग्रेस पार्टी भी इस प्रस्ताव का विरोध करती है और ऐसे किसी कदम को जनहित के लिए घातक मानती है। बैंकिंग व्यवस्था को मुट्ठी भर धन्ना सेठों को सौंप दिया गया तो पिछले 50 साल से बैंकिंग व्यवस्था को साधारण जनमानस, किसान और गरीब तक पहुंचाने की सारी कोशिशें और कवायद पूरी तरह से बेकार हो जाएगी।”

काग्रेस नेताओं ने कहा कि मोदी सरकार ने नोटबन्दी के समय भी रिज़र्व बैंक का दुरुपयोग किया और अब भी यह सरकार एक कठपुतली की तरह आरबीआई का दुरुपयोग कर रही है और उनकी पार्टी इस कवादत का कड़ा विरोध करती है।

चिदंबरम ने कहा कि बैंकों में जनता की गाढी कमाई और बचत का पैसा है और इसकी सुरक्षा सबसे बड़ा राष्ट्रहित है। बैंकों के पास देश के 130 करोड़ लोगों का लगभग 140 लाख करोड़ रुपए जमा है। यदि कुछ उद्योगपतियों को बैंक खोलने की इजाजत दी जाती है तो उद्योगपति खुद के फायदे के लिए भी इस्तेमाल कर सकते हैं और कांग्रेस कभी इसकी इजाज़त नहीं देगी।

कांग्रेस नेताओं ने पूछा कि यह सब किसके लिए किया जा रहा है औऱ बैंकों का लाइसेंस किनको देने की तैयारी चल रही है। सरकार को बताना चाहिए कि वह यह कदम किन लोगों को फायदा देने के लिए कर रही है। उनका कहना था कि सरकार का यह प्रयास मुट्ठी भर लोगों के हाथ में देश की पूरी आर्थिक ताकत देने और उनको फायदा पहुंचने के लिए है ।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
यूपी: भाजपा में भागदौड़: अभी तो यह ‘ट्रेलर’ है… पूरी फिल्म बाकी है… मेरे दोस्त…
यूपी: भाजपा में भागदौड़: अभी तो यह ‘ट्रेलर’ है… पूरी फिल्म बाकी है… मेरे दोस्त…