नीतीश-शाह के रैली क्षेत्र में बना सबसे बड़ी हार का रिकॉर्ड

नई दिल्ली। दिल्ली विधानसभा चुनाव में गृहमंत्री अमित शाह और बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने जिस सीट के प्रत्याशी को जिताने के लिए पूरा जोर लगा दिया था, वहीं पर इस चुनाव में राजग की सबसे बड़ी हार का रिकॉर्ड बना है।

यह सीट रही बुराड़ी विधानसभा की। यहां राजग कोटे से लड़ रहे जद(यू) प्रत्याशी शैलेंद्र कुमार को आम आदमी पार्टी (आप) के हाथों 88 हजार से भी अधिक वोटों से हार का सामना करना पड़ा है।

दिल्ली विधानसभा चुनाव में भाजपा ने बुराड़ी और संगम विहार दो विधानसभा सीटें राजग सहयोगी जद(यू) को दी थी। जद(यू) ने बुराड़ी सीट से शैलेंद्र कुमार को चुनाव मैदान में उतारा था। शैलेंद्र को जिताने के लिए बिहार से मुख्यमंत्री नीतीश कुमार दिल्ली पहुंचे थे। उन्होंने गृहमंत्री अमित शाह के साथ दो फरवरी को रविवार के दिन बुराड़ी में साझा रैली कर माहौल बनाने की कोशिश की थी।

इसे भी पढ़ें :- हम सबको मिलकर संविधान को बचाना होगा : प्रियंका

खास बात है कि राजग में नीतीश कुमार की वापसी के बाद यह पहला मौका था जब उन्होंने और अमित शाह ने एक साथ चुनावी मंच साझा किया था। दोनों शीर्ष नेताओं की साझा रैली से राजग प्रत्याशी को लाभ पहुंचने की अटकलें लग रही थीं, मगर मंगलवार को आए नतीजों ने भाजपा और जद(यू) को बड़ा झटका दिया।

इस सीट से दिल्ली में खाता खोलने की जद(यू) की उम्मीदों पर आम आदमी पार्टी ने पानी फेर दिया। राजग प्रत्याशी शैलेंद्र कुमार आप के संजीव झा से 88,158 वोटों से हार गए। आप उम्मीदवार संजीव झा को जहां 139,598 वोट मिले, वहीं शैलेंद्र को 51,440 वोटों से संतोष करना पड़ा। खास बात है कि इस सीट पर 2015 के चुनाव में भी आम आदमी पार्टी से संजीव झा जीते थे। उन्होंने तब भाजपा प्रत्याशी गोपाल झा को 67,950 वोटों से हराया था। इस प्रकार आप के संजीव झा बुराड़ी से जीत के अंतर का अपना ही रिकॉर्ड तोड़ने में सफल रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Shares