समाचार मुख्य

सार्वजनिक जगहों पर प्रदर्शन इजाजत नहीं

नई दिल्ली।  संशोधित नागरिकता कानून के विरोध में दिल्ली के शाहीन बाग में हुए विरोध प्रदर्शन और आंदोलन को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने एक अहम फैसला किया है। सर्वोच्च अदालत ने बुधवार को कहा कि विरोध प्रदर्शन के लिये शाहीन बाग जैसी सार्वजनिक जगह पर अनिश्चितकाल के लिए कब्जा किया जाना मंजूर नहीं है। गौरतलब है कि पिछले साल दिसंबर में संशोधित नागरिकता कानून को लेकर शाहीन बाग में शुरू हुआ धरना प्रदर्शन कई महीनों तक चलता रहा था और कोरोना का संक्रमण शुरू होने के बाद वह खत्म हुआ था।

बहरहाल, सर्वोच्च अदालत ने कहा कि धरना प्रदर्शन एक निर्धारित स्थान पर ही होना चाहिए और विरोध प्रदर्शन के लिए सार्वजनिक जगहों या सड़कों पर कब्जा करके बड़ी संख्या में लोगों को असुविधा में डालने या उनके अधिकारों का हनन करने की कानून के तहत इजाजत नहीं है। जस्टिस संजय किशन कौल, जस्टिस अनिरूद्ध बोस और जस्टिस कृष्ण मुरारी की पीठ ने अपने फैसले में कहा कि विरोध प्रदर्शन के अधिकार और दूसरे लोगों के आने-जाने के अधिकार जैसे अधिकारों के बीच संतुलन बनाना होगा।

अदालत ने अपने फैसल में कहा- लोकतंत्र और असहमति एक साथ चलते हैं। तीन जजों की पीठ ने कहा कि सार्वजनिक जगहों पर विरोध प्रदर्शन के लिए अनिश्चितकाल तक कब्जा नहीं किया जा सकता, जैसा कि शाहीन बाग मामले में हुआ। गौरतलब है कि संशोधित नागरिकता कानून के खिलाफ विरोध प्रदर्शन के दौरान शाहीन बाग की सड़क को कई महीनों तक बंद रखने के मामले में सुप्रीम कोर्ट में जनहित याचिका दायर की गई थी।

इस मामले में वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए फैसला सुनाते हुए अदालत ने दिल्ली पुलिस पर भी सवाल उठाया और कहा कि उसे शाहीन बाग इलाके को प्रदर्शनकारियों से खाली कराने के लिए कार्रवाई करनी चाहिए थी। अदालत ने कहा कि प्राधिकारियों को खुद ही कार्रवाई करनी होगी और वे ऐसी स्थिति से निबटने के लिए अदालतों के पीछे पनाह नहीं ले सकते। शाहीन बाग की सड़क से अवरोध हटाने और यातायात सुचारू करने के लिए अधिवक्ता अमित साहनी ने याचिका दायर की थी।

Latest News

अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस : कांग्रेसी नेता ने कहा ॐ के उच्चारण से ताकतवर और अल्लाह कहने से कमजोर नहीं होता योग. तो BJP सांसद ने ये दिया मजेदार जवाब
आज खास | NI Desk - June 21,2021
नई दिल्ली | अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के मौके पर देश के साथ ही विदेशों में भी तरह तरह के कार्यक्रमों का आयोजन…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

देश | उत्तर प्रदेश

Mirzapur : रात को पांचों भाई बहन खुशी-खुशी खाकर सोये, सुबह उठे तो हो चुके थे अनाथ

मिर्जापुर | उतर प्रदेश के मिर्जापुर से एक दिल को दहला देने वाला मामला सामने आया है. यहां रहने वाले एक पति ने अपनी ही पत्नी की बेरहमी से कुल्हाड़ी से मारकर हत्या कर दी. इस जघन्य अपराध को अंजाम देने के बाद उसने भी फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली. घटना की जानकारी आसप-पास रहने वाले लोगों ने जैसे ही पुलिस को दी तो पुलिस आकर शवों को अपने कब्जे में ले लिया. इसके साथ ही दोनोें शवों को पुलिस ने पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है. जानकाकी मिली है कि इस दंपती के 5 मासूस बच्चे थे और अब इनको संभालने वाला कोई नहीं बचा. पुलिस ने फिलहाल दोनों बच्चों के चाउल्ड केयर होम भेज दिया है और मामले की जांच में जुट गई है.

पत्नी को मारने के तुरंत बाद लगा ली फांसी

आसपास रहने वाले लोगों से पूछताछ में पुलिस को जो बात पता चली है उसके अनुसार पति पत्नी में सोमवार की रात किसी बात को लेकर विवाद हो गया था. यह विवाद इतना बढ़ गया कि अर्जुन ने गुस्से में अपना आपा खो दिया. इसके बाद घर पर ही रखी कुल्हाड़ी से अपनी पत्नी पर कई वार किए जिससे मौके पर ही पत्नी की मौत हो गई. इस वारदात को अंजाम देने के बाद पति तुरंत घर से बाहर निकला और पेड़ पर रस्सी बांधकर फांसी लगा ली. पुलिस ने घर से खून में लथपथ कुल्हाड़ी बरामद कर ली है. वहीं नितक अर्जुन के कपड़ों में भी खून के निशान देखने को मिले हैं. इसी बात का अंदाजा लगाकर पुलिस का कहना है कि अर्जुन ने पहले अपनी पत्नी को मारा और उसके बाद खुद फांसी लगा ली.

इसे भी पढ़ें – खुले बालों में चीखती-चिल्लाती महिलाएं, अजीब व्यवहार करते पुरुष, यहां के भूत मेले में दूर-दूर से पहुंचते हैं लोग..

बच्चों के रोने की आवाज सुनकर जमा हुए पड़ोसी

इस वारदात के बाद भी बच्चे घर पर सोए रहे और उन्हें इस बात की जानकारी नहीं मिली कि वे अनाथ हो गए हैं. सुबह जब बच्चों ने आंखें खोली तो अपनी मां के शव को देखकर रोना शुरू कर दिया. घर से बाहर निकल कर जब अपने पिता को फांसी के फंदे पर झूलता देखा तो बच्चे बिलगने लगे. बच्चों को रोता देख जब पड़ोसियों नया सारा नजारा देखा तो तुरंत पुलिस को सूचना दे दी. पड़ोसियों का कहना है कि अक्सर पति पत्नी के बीच विवाद होता रहता था लेकिन स्थिति यहां तक पहुंच जाएगी यह किसी ने भी नहीं सोचा था.

इसे भी पढ़ें- इंडियन आइडल12 से सवाई भट्ट हुए बाहर तो फूटा नव्या नवेली का गुस्सा, लोग बोले-शनमुखा को बचाने के लिए हो रहा ड्रामा

Latest News

aaअंतर्राष्ट्रीय योग दिवस : कांग्रेसी नेता ने कहा ॐ के उच्चारण से ताकतवर और अल्लाह कहने से कमजोर नहीं होता योग. तो BJP सांसद ने ये दिया मजेदार जवाब
नई दिल्ली | अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के मौके पर देश के साथ ही विदेशों में भी तरह तरह के कार्यक्रमों का आयोजन…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *