विकास दुबे मामले की जांच एसआईटी करेगी

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के कानपुर में शुक्रवार को पुलिस मुठभेड़ में मारे गए गैंगेस्टर विकास दुबे से जुड़े मामलों की जांच के लिए सरकार ने एक विशेष जांच दल, एसआईटी बनाई है। राज्य के अतिरिक्त मुख्य सचिव संजय भूसरेड्डी इसका नेतृत्व करेंगे। एसआईटी की जांच का दायरा बड़ा होगा। यह घटना के पीछे के कारणों की जांच करेगी। साथ ही इस बात की भी जांच करेगी कि विकास दुबे पर जो भी मामले चल रहे हैं, उनमें अब तक क्या कार्रवाई हुई।

एसआईटी को यह जांच भी करनी है कि विकास के साथियों को सजा दिनाने के लिए जरूरी कार्रवाई की गई या नहीं। इतने बड़े अपराधी की जमानत रद्द कराने के लिए क्या कार्रवाई की गई, इसकी भी जांच होगी। इसका मकसद यह पता लगाना है कि पुलिस विभाग में किस किस की विकास से मिलीभगत थी और किन लोगों ने उसकी मदद की। उसके खिलाफ कितनी शिकायतें आईं और चौबेपुर थाना अध्यक्ष व जिले के अन्य अधिकारियों ने उनकी जांच की या नहीं इसकी भी जांच एसआईटी करेगी।

विकास दुबे के घर आधी रात के बाद छापा मारने गई पुलिस को आरोपियों के पास इतनी बड़ी मात्रा में हथियार होने की जानकारी कैसे नहीं मिली इस लापरवाही की भी जांच होगी। इसे इंटेलीजेंस की बड़ी विफलता माना जा रहा है। एसआईटी इस बात की भी जांच करेगी कि अपराधी होने के बावजूद भी विकास और उसके साथियों को हथियारों के लाइसेंस किसने और कैसे दिए। लगातार अपराध करने के बाद भी उसके पास लाइसेंस कैसे बना रहा। इस बीच, विकास के अंतिम संस्कार के बाद उसका बड़ा बेटा आकाश लखनऊ में अपनी दादी सरला देवी से मिलने पहुचा। वहां मौजूद पुलिस उसे अपने साथ ले गई। हालांकि बाद में उसे छोड़ दिया गया। यह भी खबर है कि अब प्रवर्तन निदेशालय. ईडी भी इस मामले की जांच करेगी। बताया जा रहा है कि विकास दुबे के विदेश में पैसा निवेश करने की खबर है, जिसकी जांच ईडी करेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Shares