विमान के यात्री क्वरैंटाइन नहीं होंगे!

नई दिल्ली। सोमवार से घरेलू उड़ान सेवाओं की शुरुआत से पहले नागरिक विमानन मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा है कि जिन यात्रियों के फोन में इंस्टाल आरोग्य सेतु एप में ग्रीन सिग्नल होगा उन्हें क्वरैंटाइन में ऱखने की जरूरत नहीं होगी। गौरतलब है कि विमानन मंत्री ने जो मानक संचालन प्रक्रिया, एसओपी जारी की है उसके मुताबिक उन्हीं यात्रियों को हवाईअड्डे की टर्मिनल बिल्डिंग में घुसने की इजाजत मिलेगी, जिनका आरोग्य सेतु एप ग्रीन सिग्नल देगा। और अगर ग्रीन सिग्नल वाले को क्वरैंटाइन नहीं किया जाना है इसका मतलब है कि जो यात्री विमान से यात्रा करेंगे उन्हें क्वरैंटाइन नहीं किया जाएगा।

हरदीप सिंह पुरी ने शनिवार एक ऑनलाइन चर्चा में इसके बारे में जानकारी दी। इस दौरान उन्होंने यह भी कहा कि सरकार अगस्त से पहले ही अंतरराष्ट्रीय उड़ाने भी शुरू कर सकती हैं। पहले कहा जा रहा था कि अगस्त-सितंबर में ही अंतरराष्ट्रीय उड़ानें शुरू हो सकती हैं। पर पुरी ने शनिवार को संकेत दिया कि जून-जुलाई में ही अंतरराष्ट्रीय उड़ानें शुरू हो सकती हैं।

लॉकडाउन के दौरान हवाई सफर कर रहे यात्रियों को क्वारेंटाइन या आइसोलेशन में भेजे जाने की आशंकाओं से जुड़े सवाल पूछे जाने पर पुरी ने कहा- मुझे नहीं लगता कि जिन यात्रियों के आरोग्य सेतु ऐप पर स्टेटस ग्रीन है, उन्हें क्वरैंटाइन करने की जरूरत है। हालांकि कम से कम आधा दर्जन राज्यों ने यात्रियों को क्वरैंटाइन करने की बात कही है और महाराष्ट्र ने शनिवार को देर शाम तक उड़ानों की मंजूरी नहीं दी थी। पुरी ने आगे कहा कि सरकार की कोशिश अगस्त से पहले अंतरराष्ट्रीय उड़ानों को भी ठीक-ठाक संख्या में शुरू करने की है।

विमानन मंत्री के घरेलू उड़ानें शुरू करने की घोषणा के बाद केरल, कर्नाटक और असम सहित छह राज्यों ने आग्रह किया है कि घरेलू उड़ानों से इन राज्यों में पहुंच रहे यात्रियों को क्वरैंटाइन किया जाएगा। शनिवार को कर्नाटक सरकार की ओर से कहा गया है कि वायरस से सबसे ज्यादा प्रभावित राज्यों से आने वाले लोगों को सात दिन क्वरैंटाइनन सेंटर और सात दिन घर पर आइसोलेशन में रहना होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Shares