• डाउनलोड ऐप
Sunday, April 18, 2021
No menu items!
spot_img

पांच राज्यों में बजा चुनावी बिगुल

Must Read

नई दिल्ली।  केंद्रीय चुनाव आयोग ने पांच राज्यों में विधानसभा चुनावों का ऐलान कर दिया है। इसके साथ ही पांचों राज्यों में आदर्श आचार संहिता लागू हो गई है। शुक्रवार को चुनाव आयोग ने पांच राज्यों- पश्चिम बंगाल, असम, केरल, तमिलनाडु और पुड्डुचेरी में विधानसभा चुनाव का ऐलान किया। इस बार चुनाव दो महीने से ज्यादा चलेंगे और पश्चिम बंगाल में रिकार्ड आठ चरण में मतदान होगा। पहले चरण का मतदान 27 मार्च को और आखिरी चरण का मतदान 29 अप्रैल को होगा। दो मई को वोटों की गिनती होगी।

चुनाव कार्यक्रम की घोषणा करते हुए मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा ने बताया कि पश्चिम बंगाल में सबसे ज्यादा आठ चरण में चुनाव होंगे। असम में तीन चरण में और बाकी तीनों राज्यों में एक-एक चरण में मतदान होंगे। मतदान की शुरुआत पश्चिम बंगाल और असम से होगी। इन दोनों राज्यों में पहले चरण का मतदान 27 मार्च को होगा। दोनों राज्यों में दूसरे चरण का मतदान एक अप्रैल को और तीसरे चरण का मतदान छह अप्रैल को होगा।

छह अप्रैल को ही केरल, तमिलनाडु और पुड्डुचेरी में भी वोट डाले जाएंगे। इसका मतलब है कि छह अप्रैल को चार राज्यों- असम, केरल, तमिलनाडु और पुड्डुचेरी का मतदान पूरा हो जाएगा। इन राज्यों को मतदान खत्म होने के बाद लगभग पूरा एक महीना नतीजों के लिए इंतजार करना होगा। बहरहाल, पूरे अप्रैल महीने में अकेले पश्चिम बंगाल में वोटिंग होगी। बंगाल में चौथे चरण का मतदान 10 अप्रैल को होगा। उसके बाद 17, 22, 26 और 29 अप्रैल को पांचवें, छठे, सातवें और आठवें चरण का मतदान होगा।

बंगाल और असम में होने वाले पहले चरण के मतदान के लिए दो मार्च को अधिसूचना जारी होगी। पश्चिम बंगाल में पहली बार भारतीय जनता पार्टी सीधे मुकाबले में दिख रही है। उसके और सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस के बीच सीधा मुकाबला होगा। कांग्रेस और लेफ्ट पार्टियां तालमेल करके लड़ रही हैं। असम में भाजपा और कांग्रेस गठबंधन के बीच दो क्षेत्रीय पार्टियों का एक तीसरा गठबंधन भी मजबूत मुकाबले में है। उधर तमिलनाडु में डीएमके बनाम अन्ना डीएमके गठबंधन का मुकाबला होगा। कांग्रेस और भाजपा दोनों गठबंधन के छोटे सहयोगी के तौर पर लड़ेंगी। केरल में सत्तारूढ़ यूडीएफ का मुकाबला कांग्रेस के नेतृत्व वाले विपक्षी गठबंधन यूडीएफ के साथ होगा। पुड्डुचेरी में कांग्रेस-डीएमके गठबंधन का मुकाबला भाजपा-अन्ना डीएमके और ऑल इंडिया एनआर कांग्रेस के गठबंधन के बीच होगा।

चुनाव शिड्यूल की घोषणा से पहले मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा ने बताया कि 80 साल से ज्यादा उम्र के लोगों, दिव्यांग लोगों, जरूरी सेवाओं में लगे जिन लोगों की स्थानीय चुनाव अधिकारी पहचान करेंगे, वे पोस्ट बैलट से मतदान कर सकेंगे। उन्होंने यह भी कहा कि सभी चुनाव अधिकारियों का कोरोना वैक्सीनेशन होगा। इस बार वोट डालने का समय एक घंटा ज्यादा होगा। अरोड़ा ने बताया कि पांच राज्यों में 824 विधानसभा सीटें हैं। इनके लिए इस बार 18.68 करोड़ वोटर हैं और 2.7 लाख मतदान केंद्र होंगे।

- Advertisement -spot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest News

बिहार में नई पाबंदियों का ऐलान, संक्रमितों रिकार्ड तोड़ संख्या

पटना। कोरोना वायरस के संक्रमितों की रिकार्ड तोड़ संख्या को देखते हुए बिहार सरकार ने नई पाबंदियों का ऐलान...

More Articles Like This