यूएन प्रमुख फिर बोले सीएए पर

नई दिल्ली। संयुक्त राष्ट्र के प्रमुख एंटोनियो गुतारेस ने भारत के मामले में एक बार फिर विवादित बयान दिया है। पाकिस्तान के दौरे पर पहुंचे गुतारेस ने पहले जम्मू कश्मीर में अनुच्छेद 370 हटाए जाने को लेकर बयान दिया था, जिस पर भारत ने तीखी प्रतिक्रिया दी थी। अब उन्होंने संशोधित नागरिकता कानून पर बयान दिया है और कहा है कि भारतीय संसद में पास किए गए नागरिकता संशोधन कानून की वजह से बीस लाख लोगों के देश विहीन होने का खतरा है, इनमें से ज्यादातर मुस्लिम हैं।

उन्होंने कहा- मुझे इसको लेकर चिंता है। पाकिस्तानी अखबार ‘डॉन’ को दिए एक इंटरव्यू में जब उनसे पूछा गया कि क्या भारत में अल्पसंख्यकों के खिलाफ बढ़ रहे भेदभाव को लेकर वे चिंतिंत हैं? इसके जवाब में एंटोनियो गुतारेस ने कहा था कि उन्हें इसकी चिंता है। उन्होंने यह भी कहा कि जब भी नागरिकता संबंधी कानूनों में बदलाव किया जाता है, इस तरह के प्रयास किए जाते हैं कि देशविहीनता की स्थिति पैदा न हो।

इससे पहले संयुक्त राष्ट्र प्रमुख एंटोनियो गुतारेस ने जम्मू कश्मीर पर टिप्पणी की थी, जिसके बाद भारत ने कहा था कि यह क्षेत्र भारत का अभिन्न हिस्सा है और रहेगा। भारत ने यह भी कहा था कि असली मुद्दा पाकिस्तान के कब्जे वाला कश्मीर है, जिस पर ध्यान देने की सबसे अधिक जरूरत है। पाकिस्तान की चार दिनों की यात्रा पर पहुंचे गुतारेस ने जम्मू कश्मीर को लेकर दोनों देशों के बीच मध्यस्थता की पेशकश की थी। इस पर विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा कि कश्मीर मुद्दे पर किसी तीसरे पक्ष की मध्यस्थता की कोई भूमिका नहीं है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Shares