लॉकडाउन 5.0 में बड़ी छूट - Naya India
समाचार मुख्य| नया इंडिया|

लॉकडाउन 5.0 में बड़ी छूट

नई दिल्ली। कोरोना वायरस का संक्रमण रोकने के लिए देश भर में लागू लॉकडाउन को केंद्र सरकार ने 30 जून तक बढ़ा दिया है पर एक जून से शुरू हो रहे पांचवें चरण के लॉकडाउन में बड़ी राहतों की घोषणा की है। सबसे बड़ी राहत यह है कि अब राज्यों की सीमा खोल दी जाएगी और राज्यों के अंदर भी लोगों का आवाजाही पूरी तरह से फ्री कर दी जाएगी। राज्यों के अंदर या एक राज्य के दूसरे राज्य में जाने के लिए अब किसी तरह की अनुमति की जरूरत नहीं होगी। इसके अलावा सरकार ने रात के कर्फ्यू की अवधि भी कम कर दी है। अब शाम सात से सुबह सात बजे की बजाय रात नौ बजे से सुबह पांच बजे तक कर्फ्यू रहेगी।

चौथे चरण का लॉकडाउन खत्म होने से एक दिन पहले 30 मई को सरकार की ओर से जारी दिशा-निर्देशों में कहा गया है कि 30 जून तक लॉकडाउन सिर्फ कंटेनमेंट जोन में लागू रहेगा और देश के बाकी हिस्सों को चरणबद्ध तरीके से खोल दिया जाएगा। केंद्रीय गृह मंत्रालय की ओर से शनिवार को जारी नई गाइडलाइन के मुताबिक आठ जून के बाद होटल, रेस्तरां, शॉपिंग मॉल्स और धार्मिक स्थल खुलेंगे, लेकिन शर्तों के साथ।

इसके मुताबिक स्कूल-कॉलेज खोलने पर फैसला जुलाई में ही होगा। अंतरराष्ट्रीय उड़ानें शुरू करने और सिनेमा हॉल जैसी जगहें आम लोगों के लिए खोलने पर अभी कोई फैसला नहीं हुआ है। राज्यों के बीच और राज्य के अंदर लोगों और सामान की आवाजाही पर कोई प्रतिबंध नहीं होगा। इस तरह की आवाजाही के लिए अलग से इजाजत लेने या ई-परमिट की जरूरत नहीं होगी। हालांकि कंटेनमेंट जोन में जरूरी सेवाओं को छोड़ कर किसी भी तरह की आवाजाही की इजाजत नहीं होगी। इस पर सख्ती से पाबंदी रहेगी।

गृह मंत्रालय की ओर से शनिवार को जारी दिशा-निर्देशों के मुताबिक पहले चरण में आठ जून के बाद सभी धार्मिक स्थल, होटल, रेस्तरां और शॉपिंग मॉल्स खुल सकेंगे। पर इनके लिए स्वास्थ्य मंत्रालय मानक संचालन प्रक्रिया यानी एसओपी जारी करेगा ताकि इन जगहों पर सोशल डिस्टेंसिंग का पालन हो सके और वायरस का संक्रमण न फैले।

दूसरे चरण में स्कूल, कॉलेज, शिक्षण संस्थान, कोचिंग इंस्टीच्यूट आदि खोलने का फैसला होगा। कहा गया है कि राज्य सरकारों से सलाह लेने के बाद ही खुल सकेंगे। राज्य सरकारें बच्चों के माता-पिता और संस्थानों से जुड़े लोगों के साथ बातचीत कर इस पर फैसला कर सकती हैं। फीडबैक मिलने के बाद इन संस्थानों को खोलने पर जुलाई में फैसला लिया जा सकता है। स्वास्थ्य मंत्रालय इसके लिए भी मानक संचालन प्रक्रिया जारी होगी।

तीसरे चरण में अंतरराष्ट्रीय उड़ाने शुरू करने के बारे में फैसला होगा। इसके अलावा सिनेमा हॉल खोलने और स्वीमिंग पूल, थिएटर, बार, जिम आदि शुरू करने का फैसला भी तीसरे चरण में होगा। सामाजिक, राजनीतिक, धार्मिक, सांस्कृतिक गतिविधियां शुरू करने का फैसला भी तीसरे चरण में होगा।

कंटेनमेंट जोन में 30 जून तक सख्ती

केंद्र सरकार ने पूरे देश में लॉकडाउन की शर्तों में ढील देने का ऐलान किया है पर जिन इलाकों में वायरस के ज्यादा मामले हैं और जो कंटेनमेंट जोन हैं वहां 30 जून तक लॉकडाउन लागू रहेगा और इसकी शर्तों का कड़ाई से पालन करना होगा। स्वास्थ्य मंत्रालय के दिशा-निर्देशों के बारे में जानकारी लेने के बाद जिला अधिकारी अपने अपने इलाके में कंटेनमेंट जोन तय करेंगे।

कंटेनमेंट जोन में सिर्फ बेहद जरूरी गतिविधियों की ही इजाजत दी जाएगी।

मेडिकल इमरजेंसी सेवाओं और जरूरी सामान और सेवाओं की सप्लाई को छोड़ कर इन कंटेनमेंट जोन में लोगों की आवाजाही पर सख्ती से रोक रहेगी। कंटेनमेंट जोन में बहुत बारीकी से कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग होगी। घर-घर जाकर निगरानी की जाएगी और अन्य जरूरी मेडिकल कदम उठाए जाएंगे।

यह भी कहा गया है कि राज्य सरकारें कंटेनमेंट जोन के बाहर बफर जोन की पहचान भी कर सकेंगी। ये ऐसे इलाके होंगे, जहां नए मामले आने का खतरा ज्यादा है। बफर जोन के अंदर भी प्रतिबंधों को जारी रखा जा सकता है। अपने क्षेत्रों में हालात का जायजा लेने के बाद राज्य सरकारें कंटेनमेंट जोन के बाहर कुछ गतिविधियों को प्रतिबंधित कर सकती हैं।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
प्रियंका गांधी ने निभाया वादा कांग्रेस की पहली सूची में 40% महिलाओं को टिकट…
प्रियंका गांधी ने निभाया वादा कांग्रेस की पहली सूची में 40% महिलाओं को टिकट…