nayaindia एक लाख लोगों को मिला घरों का स्वामित्व - Naya India
समाचार मुख्य| नया इंडिया|

एक लाख लोगों को मिला घरों का स्वामित्व

नई दिल्ली।  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने स्वामित्व योजना के तहत रविवार को एक लाख लोगों को घरों का स्वामित्व पत्र या प्रॉपर्टी कार्ड जारी किया। लोकनायक जयप्रकाश नारायण और जनसंघ के संस्थापकों में एक रहे नानाजी देशमुख की जयंती पर स्वामित्व योजना की शुरुआत की।. इस मौके पर प्रधानमंत्री मोदी ने कहा- आज आपके पास एक अधिकार है, एक कानूनी दस्तावेज है कि आपका घर आपका ही है, आपका ही रहेगा। उन्होंने कहा कि ये योजना देश के गांवों में ऐतिहासिक परिवर्तन लाने वाली है।

प्रधानमंत्री ने रविवार को कहा- आज जिन एक लाख लोगों को अपने घरों का स्वामित्व पत्र या प्रॉपर्टी कार्ड मिला है, जिन्होंने अपना कार्ड डाउनलोड किया है, उन्हें मैं बहुत-बहुत बधाई देता हूं। उन्होंने इस मौके पर लोकनायक जयप्रकाश नारायण और नानाजी देशमुख को भी याद किया और कहा- इन दोनों महापुरुषों का सिर्फ जन्मदिन ही एक तारीख को नहीं पड़ता, बल्कि इनके संघर्ष और आदर्श भी एक समान रहे हैं।

उन्होंने कहा कि गांव और गरीब की आवाज को बुलंद करना जेपी और नानाजी के जीवन का साझा संकल्प रहा है। प्रधानमंत्री ने कहा- नानाजी कहते थे कि जब गांव के लोग विवादों में फंसे रहेंगे तो न अपना विकास कर पाएंगे और न ही समाज का। उन्होंने कहा- मुझे विश्वास है, स्वामित्व योजना भी हमारे गांवों में अनेकों विवादों को समाप्त करने का बहुत बड़ा माध्यम बनेगी।

प्रधानमंत्री कार्यालय ने इस योजना को ग्रामीण भारत में बदलाव लाने वाली ऐतिहासिक पहल बताया है। सरकार की इस पहल से ग्रामीणों को अपनी जमीन और संपत्ति को एक वित्तीय संपत्ति के तौर पर इस्तेमाल करने की सुविधा मिलेगी, जिसके एवज में वह बैंकों से कर्ज और दूसरा वित्तीय फायदा उठा सकेंगे। योजना लांच होने के दिन छह राज्यों के 763 गांवों में लोगों को स्वामित्व पत्र मिला। इनमें उत्तर प्रदेश के 346, हरियाणा के 221, महाराष्ट्र के एक सौ, मध्य प्रदेश के 44, उत्तराखंड के 50 और कर्नाटक के दो गांव शामिल हैं। महाराष्ट्र को छोड़ कर बाकी पांच राज्यों के लाभार्थियों को एक दिन के भीतर अपने संपत्ति कार्ड की भौतिक रूप से प्रतियां प्राप्त मिल जाएंगी।

Leave a comment

Your email address will not be published.

five × two =

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
नड्डा की जगह कौन बनेगा अध्यक्ष?
नड्डा की जगह कौन बनेगा अध्यक्ष?