देश | पश्चिम बंगाल | समाचार मुख्य

बंगाल में जीते दो सांसदों का विधायकी से इस्तीफा

कोलकाता। पश्चिम बंगाल में विधानसभा का चुनाव जीते भाजपा के दो सांसदों ने विधायकी से इस्तीफा दे दिया है। इसका मतलब है कि सांसद बने रहेंगे। गौरतलब है कि भाजपा ने विधानसभा चुनाव में लोकसभा के चार और राज्यसभा के एक मनोनीत सांसद को उतारा था। इसमें से लोकसभा के दो सांसद- निशिथ प्रमाणिक और जगन्नाथ सरकार ही चुनाव जीत पाए थे। बाकी तीनों सांसद हार गए थे। जीते हुए दोनों विधायकों ने विधानसभा की सदस्यता की शपथ नहीं ली थी। तभी अंदाजा लगाया जा रहा था कि वे विधायकी से इस्तीफा देंगे।

बताया जा रहा है कि भाजपा नेतृत्व ने उन्हें सांसद बने रहने और विधानसभा से इस्तीफा देने को कहा। निशिथ प्रमाणिक बंगाल विधानसभा चुनाव में दिनहाटा और जगन्नाथ सरकार शांतिपुर सीट से चुने गए थे। बताया जा रहा है कि शनिवार को भाजपा के केंद्रीय नेतृत्व में बंगाल इकाई के नेताओं के साथ दिल्ली में महत्वपूर्ण बैठक की थी, जिसमें यह फैसला किया गया। इन दोनों के इस्तीफे की वजह से इन दोनों सीटों पर उपचुनाव होगा।

गौरतलब है कि भाजपा ने विधानसभा चुनाव में अपने चार सांसदों को उम्मीदवार बनाया था, जिनमें से बाबुल सुप्रियो और लॉकेट चटर्जी को हार का सामना करना पड़ा जबकि निशिथ प्रमाणिक और जगन्नाथ सरकार ने जीत हासिल की। निशिथ प्रमाणिक ने तृणमूल कांग्रेस उम्मीदवार उदयन गुहा को महज 59 वोटों से हराया था जबकि जगन्नाथ सरकार ने 15,878 वोटों से जीत हासिल की थी। भाजपा के कुल 77 उम्मीदवार चुनाव जीते थे लेकिन दो के इस्तीफे के बाद अब यह संख्या 75 रह गई है।

नियमों के मुताबिक विधायक पद की शपथ लेने पर इन दोनों को अगले दो हफ्तों के भीतर सांसद पद से इस्तीफा देना पड़ता। इन दोनों के विधायक पद छोड़ने पर अब वहां उपचुनाव होंगे। इसके अलावा खड़दह सीट पर भी उपचुनाव होगा, जहां विजयी रहे तृणमूल उम्मीदवार काजल सिन्हा की कोरोना से मौत हो गई थी। इसके अलावा मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को भी अगले छह महीने के अंदर किसी एक विधानसभा सीट से निर्वाचित होना होगा। नंदीग्राम में वे शुभेंदु अधिकारी से हार गई थीं।

Latest News

MIlkha Singh News : नम आंखों से दी Flying Sikh को विदाई, राजकीय सम्मान के साथ पंच तत्व में विलीन हुए मिल्खा सिंह
आज खास | NI Desk - June 19,2021
नई दिल्ली | Flying Sikh के नाम से प्रसिद्ध एथलीट पद्मश्री‍ मिल्‍खा सिंह का राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार कर दिया…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

आज खास | ताजा पोस्ट | देश

MIlkha Singh News : नम आंखों से दी Flying Sikh को विदाई, राजकीय सम्मान के साथ पंच तत्व में विलीन हुए मिल्खा सिंह

नई दिल्ली | Flying Sikh के नाम से प्रसिद्ध एथलीट पद्मश्री‍ मिल्‍खा सिंह का राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार कर दिया गया. जानकारी के अनुसार मिल्खा सिंह के पार्थिव शरीर को शाम के 4:15 बजे उन्के घर के पास के सेक्टर-25 श्मशानघाट में लाया गया था. मिल्खा सिंह के अंतिस संस्कार के समय उनके घऱ पर जाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह, पूर्व उपमुख्यमंत्री सुखबीर बादल और हरियाणा के खेल मंत्री संदीप सिंह भी पहुंचे थे. वहीं, केंद्रीय खेल मंत्री रिजिजू और यूटी प्रशासक वीपी सिंह बदनौर के श्मशानघाट पर पहुंचे. इसके साथ ही सरकार की अपील के बाद भी कई लोग श्मशान घाट और घर पर पहुंच गये. हालांकि इस दौरान कोरोना की गाइडलाइन को लेकर राज्य सरकार की ओर से लगातार अपील की जा रही थी. इसलिए लोगों ने सोशल डिस्टेंसिंग के साथ ही 2 गज की दूरी का भी ख्याल रखा.

पिता का शव लेने पहुंचे थे बेटे जीव

मौत की सूचना मिलते ही मिल्खा सिंह के बेटे जीव मिल्खा सिंह लेने पीजीआइ गए थे. कोरोना के गाइडलाइल के कारण मिल्खा सिंह के शव को सेक्टर-8 स्थित उनकी कोठी में रखा गया था. इसके साथ ही घर के बाहर मिल्खा सिंह और उनकी पत्नी निर्मल कौर की फोटो रखकर लोग उनकी आत्मा की शांति के लिए प्रार्थना कर रहे थे. आने वाले लोग दोनों की तस्वीरों पर माला चढा रहे थे. सबसे पहले मिल्खा सिंह के बेटे जीव मिल्खा सिंह ने उनकी फोटो पर माल्यापर्ण किया. सुरक्षा के लिहाज से घर और इलाके में भारी पुलिस बल की तैनाती की गई थी.

91 साल के थे मिल्का सिंह, 5 दिनों पहले हुआ था पत्नी का निधन

शुक्रवार की देर रात चानक मिल्खा सिंह का ऑक्सीजन लेवल गिर गया और बीपी डाउन होने से उनकी मौत हो गई थी. उन्‍होंने रात के 11: बजकर 30 मिनट पर अपनी अंतिम सांस ली थी. कोरोना से संक्रमित होने के बाद वे 3 जून से पीजीआइ चंडीगढ़ में भर्ती थे. उनका इलाज कर रहे डॉक्टरों ने बताया था कि मिल्खा सिंह कोरोना को तो मात दे चुके थे लेकिन पोस्ट कोविड साइडइफेक्ट्स से वह नहीं उबर सके. वे 91 साल के थे. बता दें कि पांच दिन पहले ही उनकी पत्नी निर्मल मिल्‍खा सिंह का निधन भी कोरोना के संक्रमण के कारण मोहाली के फोर्टिस अस्पताल में हुआ था.

इसे भी पढें- Bengal Politics : राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने 48 घंटों में दूसरी बार की अमित शाह से मुलाकात, कहा- आजादी का बाद ऐसे कभी नहीं हुए हालात

Latest News

aaRIP Milkha Singh : ‘फ्लाइंग सिख’ ने दुनिया को कहा अलविदा, प्रधानमंत्री-राष्ट्रपति ने जताया शोक
नई दिल्ली | Milkha Singh Passed Away: भारत के महान फर्राटा धावक (Sprinter) मिल्खा सिंह (Milkha Singh) का शुक्रवार रात 11ः30 बजे…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading next news