ममता ने लगाया नरसंहार का आरोप - Naya India
देश | पश्चिम बंगाल | समाचार मुख्य| नया इंडिया|

ममता ने लगाया नरसंहार का आरोप

कोलकाता। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने शनिवार को कूचबिहार के एक मतदान केंद्र पर केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल, सीआईएसएफ की गोली से चार लोगों के मारे जाने की घटना को नरसंहार करार दिया है। केंद्रीय अर्धसैनिक बल ने कहा है कि उन्होंने आत्मरक्षा में गोली चलाई थी, लेकिन इसे खारिज करते हुए ममता ने कहा है कि आत्मरक्षा में लोगों के पैर पर भी गोली मारी जा सकती थी, कमर के नीचे गोली मारी जा सकती थी, लेकिन कूचबिहार में सुरक्षा बलों ने लोगों की जान लेने के लिए गोली चलाई। ममता बनर्जी ने इसके लिए अमित शाह से इस्तीफा देने की मांग भी की।

शनिवार चौथे चरण के मतदान के दिन केंद्रीय सुरक्षा बलों की गोली से चार लोगों के मारे जाने की घटना के एक दिन बाद रविवार को मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने प्रेस कांफ्रेंस की और केंद्र सरकार पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री और गृह मंत्री के साथ यह सरकार भी असमर्थ है। वे बंगाल पर कब्जा करने के इरादे से रोज यहां आ रहे हैं। ममता ने कहा- पहले आप सुरक्षा बलों के जरिए लोगों की जान लेते हैं और बाद में उन्हें क्लीन चिट देते हैं। ये नरसंहार है। उन्होंने गोलियां बरसाईं। वो उनको पैर या शरीर के निचले हिस्से में गोली मार सकते थे, लेकिन सब गोलियां उनकी गर्दन या छाती में लगीं।

ममता बनर्जी ने चुनाव आयोग पर भी निशाना साधा और कहा कि कहा कि चुनाव आयोग को मॉडल कोड ऑफ कंडक्ट का नाम बदल कर मोदी कोड ऑफ कंडक्ट रख लेना चाहिए। उन्होंने कहा- भाजपा अपनी पूरी ताकत लगा ले, लेकिन इस दुनिया में मुझे अपने लोगों का दर्द साझा करने से नहीं रोक सकती। ममता ने कहा- मुझे कूचबिहार में तीन दिनों के लिए अपने भाइयों और बहनों से मिलने से रोक सकते हैं, लेकिन मैं चौथे दिन वहां पहुंचूंगी। गौरतलब है कि घटना के बाद चुनाव आयोग ने 72 घंटे तक नेताओं के कूचबिहार जाने पर रोक लगा दी थी।

अमित शाह ने ममता पर लगाया आरोप

केंद्रीय सुरक्षा बलों पर नरसंहार के आरोप लगाने वाले ममता बनर्जी के बयान पर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने पलटवार किया। अमित शाह ने कहा कि कूचबिहार में गोलीबारी की घटना के लिए ममता बनर्जी जिम्मेदार हैं। उन्होंने शांतिपुर में कहा कि कूचबिहार की घटना का राजनीतिकरण किया जा रहा है, ये बहुत दुखद है। अमित शाह ने यह भी कहा कि ममता बनर्जी उनसे इस्तीफा मांग रही हैं लेकिन दो मई को उन्हें खुद राज्यपाल से पास जाना होगा इस्तीफा देने।

अमित शाह ने कूचबिहार की घटना के लिए ममता के ऊपर आरोप लगाते हुए कहा- उसी सीतलकुची सीट पर ममता दीदी ने कुछ दिन पहले भाषण दिया था कि केंद्रीय सुरक्षा बल वाले आए तो उन्हें घेर लो, उन पर हमला करो। मैं ममता दीदी से पूछना चाहता हूं कि क्या आपका वो भाषण उन चार लोगों की मौत का जिम्मेदार नहीं है? शाह ने कहा कि इस भाषण के लिए ममता को बंगाल के लोगों से माफी मांगनी चाहिए।

अमित शाह ने कहा- मैंने ममता दीदी के बयान देखे हैं, उसी बूथ पर सुबह आनंद बर्मन की गुंडों द्वारा हत्या कर दी गई ताकि वहां पर मतदान न हो। दीदी सिर्फ चार लोगों को श्रद्धांजलि देती हैं, उनको आनंद बर्मन की मौत की नहीं पड़ी है। मृत्य में भी तुष्टिकरण और वोट की राजनीति करना, ममता दीदी ने बंगाल की राजनीति को कितना नीचे गिराया है, ये इसका एक उदाहरण है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
पंजाब में कांग्रेस की बड़ी जीत
पंजाब में कांग्रेस की बड़ी जीत