आप ट्रंप हैं या शेख चिल्ली?

सउदी अरब के प्रसिद्ध पत्रकार जमाल खाशोगी की हत्या पर अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की किरकिरी पहले से हो ही रही है, अब उन्होंने एक नया शोशा छोड़ दिया है। वे कह रहे हैं कि 1987 में रुस के साथ परमाणु प्रक्षेपास्त्रों संबंधी जो संधि हुई थी, उसे अब वे रद्द करने वाले हैं। यह संधि लंबी वार्ताओं के बाद राष्ट्रपति रोनाल्ड रेगन और मिखाइल गोर्वाच्योफ के बीच हुई थी। इस संधि के मुताबिक 300 से 3000 मील तक मार करने वाले परमाणु प्रक्षेपास्त्रों पर प्रतिबंध लगाने की बात मानी गई थी। 

अब ट्रंप का कहना है कि इस संधि की आड़ में रुस और चीन ने कई प्रक्षेपास्त्र चुपचाप बना लिये हैं और अमेरिका पिछड़ गया है। अमेरिका इस धोखाधड़ी के खिलाफ डटकर लड़ेगा। यदि रुस जमीन से मार करने वाले नोवातोर मिसाइल बनाना बंद नहीं करेगा तो हम इस संधि को कूड़ेदान के हवाले करेंगे और हर तरह के प्रक्षेपास्त्र बनाना शुरु कर देंगे। अमेरिका के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जान बोल्टन ने मास्को पहुंचकर भी इसी तरह का बयान दिया है लेकिन रुसी सरकार के प्रवक्ता का कहना है कि अमेरिकी सरकार को गलतफहमी हो गई है। इस तरह के कोई मिसाइल नहीं बनाए गए हैं। 

इस मामले में जल्दबाजी की बजाय धीरज से काम लिया जाना चाहिए। ट्रंप को चाहिए था कि खुली बयानबाजी करने की बजाय वे रुस को राजी करते और अंतरराष्ट्रीय निगरानी बिठाते। उसके बाद जो भी कार्रवाई जरुरी होती, वह करते लेकिन इस तरह से गीदड़भभकियां देना और गुर्राना ट्रंप को मसखरा बना देता है। बिल्कुल ऐसी ही नौटंकी उन्होंने पहले उत्तर कोरिया के साथ की और आजकल सउदी अरब के साथ कर रहे हैं। सउदी अरब की सरकार ने ट्रंप को ईंट का जवाब पत्थर से दिया है। जमाल खाशोगी की हत्या पर ट्रंप ने सउदी अरब को सख्त कार्रवाई की धमकी दी तो सउदी सरकार ने कहा कि वह अमेरिका के खिलाफ सख्त से भी ज्यादा सख्त कार्रवाई करेगा। ट्रंप के सारे आंटे ढीले पड़ गए। 

ट्रंप बोल पड़े कि वे सउदी अरब के खिलाफ कार्रवाई करके अमेरिकी हथियारों के 110 बिलियन डालर के सौदे को खतरे में नहीं डाल सकते। 10 लाख अमेरिकियों को नौकरी से वंचित नहीं कर सकते। अगर नहीं कर सकते तो फिर हर बार वे अपना शेख चिल्लीपन क्यों दिखा डालते हैं? अब तो साफ जाहिर हो गया है कि इस्तांबूल के सउदी दूतावास में खाशोगी को किसने मरवाया है। अब भी ट्रंप जबानी जमा-खर्च करते रहे तो उन्हें महान अंतरराष्ट्रीय विदूषक की उपाधि से विभूषित करना होगा।

315 Views

बताएं अपनी राय!

नीचे नजर आ रहे कॉमेंट अपने आप साइट पर लाइव हो रहे है। हमने फिल्टर लगा रखे है ताकि कोई आपत्तिजनक शब्द, कॉमेंट लाइव न हो पाए। यदि ऐसा कोई कॉमेंट- टिप्पणी लाइव हुई और लगी हुई है जिसमें अर्नगल और आपत्तिजनक बात लगती है, गाली या गंदी-अभर्द भाषा है या व्यक्तिगत आक्षेप है तो उस कॉमेंट के साथ लगे ‘ आपत्तिजनक’ लिंक पर क्लिक करें। उसके बाद आपत्ति का कारण चुने और सबमिट करें। हम उस पर कार्रवाई करते उसे जल्द से जल्द हटा देगें। अपनी टिप्पणी खोजने के लिए अपने कीबोर्ड पर एकसाथ crtl और F दबाएं व अपना नाम टाइप करें।

आपका कॉमेट लाइव होते ही इसकी सूचना ईमेल से आपको जाएगी।