गोपाल कांडा ने दिया भाजपा को समर्थन - Naya India
दिल्ली विधानसभा चुनाव 2020| नया इंडिया|

गोपाल कांडा ने दिया भाजपा को समर्थन

चंडीगढ़। सरकार गठन से महज छह सीट दूर भाजपा को हरियाणा लोकहित पार्टी के नेता गोपाल कांडा ने ‘बिना किसी शर्त समर्थन’ देने का एलान कर दिया है। कांडा आत्महत्या के लिए उकसाने के एक मामले में आरोपी हैं।

निर्दलीय विधायक कांडा ने पत्रकारों से कहा कि उन्होंने और अन्य निर्दलीय विधायकों ने भारतीय जनता पार्टी को बिना किसी शर्त ‘समर्थन’ देने का फैसला किया है। सिरसा सीट से जीत दर्ज करने वाले कांडा ने कहा, मेरा परिवार 1926 से संघ से जुड़ा है। मेरा पिता भाजपा से जुड़े हैं।

संबंधित खबरें: उमा भारती ने गोपाल कांडा के समर्थन पर उठाए सवाल

दिल्ली में छह विधायकों ने पार्टी के कार्यकारी अध्यक्ष जे. पी. नड्डा से मुलाकात भी की है। भाजपा के कांडा का प्रस्ताव स्वीकार करने के कदम की भाजपा नेता उमा भारती और विपक्षी कांग्रेस ने आलोचना की है। उमा भारती ने एक ट्वीट में अपनी पार्टी को आगाह करते हुए कहा कि इससे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर की साफ छवि को नुकसान पहुंच सकता है।

संबंधित खबरें: हरियाणा: 8 निर्दलीय विधायकों का भाजपा को समर्थन

वहीं कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने भाजपा पर दोहरे मापदंड का आरोप लगाया है। उन्होंने पत्रकारों से कहा, जब कांडा हरियाणा सरकार में मंत्री थे तो उस वक्त के नरेंद्र मोदी और अमित शाह के बयानों को देखिए। उस वक्त भाजपा का क्या रुख था? सुरजेवाला ने कहा कि तत्कालीन कांग्रेस सरकार ने नैतिक जिम्मेदारी लेते हुए कांडा को हटा दिया था। यह भाजपा का दोहरा मापदंड है। सत्तारूढ़ पार्टी ने राज्य में सबसे अधिक 40 सीटों पर जीत दर्ज की है, लेकिन बहुमत से वह छह सीटें पीछे रह गई। वहीं कांग्रेस ने 31 सीटों पर जीत दर्ज की। जननायक जनता पार्टी (जजपा) ने 10 सीटें हासिल की है। वहीं सात निर्दलीय विधायक चुने गए हैं।

संबंधित खबरें: हरियाणा भाजपा विधायक दल की बैठक शनिवार को, पार्टी ने किया बहुमत का दावा

गौरतलब है कि कांडा पर 2012 में एक एयर होस्टेस को आत्महत्या करने के लिए मजबूर करने का आरोप लगा था। राज्य में भूपेन्द्र सिंह हुड्डा के नेतृत्व वाली कांग्रेस सरकार में कांडा गृह मंत्री थे। उन्होंने कहा कि मेरे खिलाफ केवल धारा 306 का एक गलत मामला है। कांडा ने अपने खिलाफ अन्य मामले दर्ज होने की खबरें खारिज करते हुए कहा, आरोप लगाना आसान है।

कांडा की ‘एमडीएनआर एयरलाइन’ में काम करने वाली गीतिका शर्मा पांच अगस्त 2012 को उत्तरपश्चिम दिल्ली के अशोक विहार में अपने घर पर मृत मिली थी। गीतिका ने चार अगस्त को आत्महत्या करने से पहले एक पत्र में लिखा था कि कांडा के ‘उत्पीड़न’ के कारण वह यह कदम उठा रही है। कांडा ने इन आरोपों को खारिज किया था। दिल्ली पुलिस ने उनके खिलाफ मामला दर्ज किया था और अभी वह जमानत पर बाहर हैं।

संबंधित खबरें: दुष्यंत चौटाला एमएलए और तिहाड़ में बंद पिता से करेंगे चर्चा

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *