जैसा किया सचिन के साथ वैसा किया जडेजा के साथ, द्रविड़ पर भड़के फैंस

भारतीय टीम ने श्रीलंका के खिलाफ रविंद्र जडेजा के नाबाद 175 रनों की बदौलत अपनी पहली पारी 8 विकेट खोते हुए 574 रन पर घोषित की।

विराट कोहली के 100वें टेस्ट के मौके पर विकेटकीपर बल्लेबाज ऋषभ पंत 96 रन बनाकर शतक से चूक गए, लेकिन जडेजा ने शतक जड़कर मोहाली टेस्ट को यादगार बना दिया है।

बल्लेबाजों के शानदार प्रदर्शन से मैच में मजबूत स्थिति में पहुंच गई है, लेकिन इसके बावजूद फैंस रविंद्र जडेजा के पहले इंटरनेशनल दोहरे शतक के चूकने का जिम्मेदार कोच राहुल द्रविड़ को बता रहे हैं।

जब दिग्गज सचिन तेंदुलकर 2004 में पाकिस्तान के खिलाफ मुल्तान टेस्ट में 194 रनों पर नाबाद थे और द्रविड़ ने पारी घोषित करने का ऐलान कर दिया था। 

एक बार फिर द्रविड़ ने वही फैसला किया, लेकिन इस बार बतौर कोच द्रविड़ ने भारत और श्रीलंका के बीच मोहाली में जारी टेस्ट मैच में जडेजा के 175 रनों पर नाबाद रहने के बावजूद पारी घोषित कर दी है।

सचिन के 2004 टेस्ट में नाबाद 194 रन पर लौटने पर राहुल द्रविड़ के फैसले की काफी आलोचना हुई थी और इस बार भी फैंस राहुल द्रविड़ के इस फैसले को गलत बता रहे हैं।

राहुल द्रविड़ के बतौर कप्तान 2004 में सचिन के दोहरे शतक से पहले पारी घोषित करने का फैसला कई लोगों के समझ में भले ही न आया हो लेकिन द्रविड़ अपने फैसले को सही बताते आए हैं।

ये वही मैच है, जिसमें स्टार सलामी बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग ने अपने करियर का पहला तिहरा शतक जड़ा था। उन्होंने 375 गेंदों में 309 रन बनाए थे।

नई वेब स्टोरी के लिए यहाँ क्लिक करें

Open Hands

Thanks For  Watching